comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

कर्नाटक: SC में सुनवाई कल, शिवकुमार बोले- बागियों ने पीठ में चाकू घोंपा

कर्नाटक: SC में सुनवाई कल, शिवकुमार बोले- बागियों ने पीठ में चाकू घोंपा

हाईलाइट

  • सुप्रीम कोर्ट में कर्नाटक मामले पर सुनवाई टली, बुधवार को ही होगी सुनवाई
  • विधानसभा में बागी विधायकों पर भड़के कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार
  • शिवकुमार ने कहा- बागियों ने मेरी पीठ में चाकू घोंपा, बीजेपी वालों के साथ भी ऐसा करेंगे

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरू। कर्नाटक में पिछले कई दिन से जारी सियासी ड्रामा खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। कर्नाटक की एचडी कुमारस्वामी सरकार पर बहुमत साबित करने का संकट है, जो लगातार टलता जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट में एक बार फिर इस मामले पर सुनवाई टल गई है। अब फ्लोर टेस्ट का मामला कोर्ट में कल (24 जुलाई) सुना जाएगा। वहीं कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने बागी विधायकों पर चाकू घोंपने का आरोप लगाया है। 

मंगलवार को कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार बागी विधायकों पर भड़क उठे। विधानसभा में उन्होंने कहा, बागी विधायकों ने मेरी पीठ में चाकू घोंपा है, लेकिन चिंता मत करो वो बीजेपी वालों के साथ भी ऐसा ही करेंगे। मैं कह रहा हूं कि वो लोग मंत्री नहीं बन पाएंगे। शिवकुमार ने कहा, जब मैं बागी विधायकों से मिलने मुंबई गया तो उन्होंने मुझे कहा हम यहां से जाना चाहते हैं।

वहीं सुप्रीम कोर्ट में भी फिर से कर्नाटक मसले पर सुनवाई टल गई है। सुप्रीम कोर्ट का कहना है, अभी स्पीकर चर्चा करवा रहे हैं, शाम तक वोटिंग हो सकती है। लिहाजा सुनवाई बुधवार को ही होगी। कांग्रेस की ओर से अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, जब याचिका दायर की गई है तो स्पीकर मतदान कैसे करा दें? सरकार को गिरना है आज या कल.. इस पर अदालत ने कहा, ये हम नहीं तय करेंगे कि सरकार कब गिर रही है लेकिन स्पीकर आशावादी हैं और बहस की बात कर रहे हैं।

स्पीकर रमेश कुमार ने आज (23 जुलाई) सुबह 11 बजे कुछ बागी विधायकों को मिलने के लिए बुलाया था, लेकिन इन्हीं में से एक बागी विधायक ने स्पीकर को चिट्ठी लिखकर 4 हफ्ते का वक्त मांगा है। विधायक का कहना है उन्हें अभी वकीलों से बात करनी होगी।

दरअसल हर बार नई डेडलाइन दी जाती है, लेकिन एचडी कुमारस्वामी सरकार का फ्लोर टेस्ट नहीं हो पा रहा। सोमवार को भी देर रात तक जनता दल सेक्यूलर-कांग्रेस विधायकों के साथ बीजेपी विधायकों का टकराव होता रहा। बीजेपी विधायक विश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग के लिए अड़े रहे। इसके बाद स्पीकर ने कुमारस्वामी सरकार को हर हालत में मंगलवार शाम 6 बजे तक बहुमत साबित करने को कहा। फ्लोर टेस्ट के लिए सदन की कार्यवाही जारी है। इस दौरान कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार बागी विधायकों पर भड़कते दिखें।

सोमवार को दिन से रात तक चले विधायकों के टकराव के बीच स्पीकर ने कड़ी फटकार भी लगाई थी। स्पीकर रमेश कुमार ने कहा था, मैं रात 12 बजे तक सदन में बैठने को तैयार हूं। आप क्या कर रहे हैं। दुनिया देख रही है। हमें अपने लक्ष्य तक पहुंचना चाहिए। उन्होंने कहा, आप मुझे उस मोड़ पर मत ले जाएं, जहां मुझे आपसे बिना पूछे फैसला लेना पड़े। इसके नतीजे विनाशकारी होंगे।
 

कमेंट करें
hMglU
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।