दैनिक भास्कर हिंदी: राशन घोटाला: दिल्ली की सड़को पर केजरीवाल-लालू के पोस्टर

April 5th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली की केजरीवाल सरकार पर राशन घोटाला करने के आरोप लगे है। इन आरोपों के बाद सियासी घमासान छिड़ गया है। केजरीवाल सरकार जहां घोटाले का ठीकरा अपने अफसरों के सिर फोड़ रही है तो वहीं विपक्ष इसे केजरीवाल सरकार की नाकामी बता रहा है। इस बीच बीजेपी ने केजरीवाल को छोटा लालू बताते हुए दिल्ली की सड़को पर पोस्टर लगाए है। इस पोस्टर में केजरीवाल और लालू एक साथ नजर आ रहे है।   

बीजेपी विधायक ने लगाए पोस्टर
इन पोस्टर्स में लिखा है ''CAG रिपोर्ट ने बताया...मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल हैं ''छोटा लालू'' वो चारा खा गए ये राशन खा गए। 1800 करोड़ का राशन घोटाला दिल्ली में। केजरीवाल को भी लालू के साथ जेल में डालो।'' वहीं अरविंद केजरवाल और लालू यादव की तस्वरी पोस्टर पर लगी है दोनों को गले मिलते हुए सलाखों के पीचे दिखाया गया है। वहीं इन पोस्टर्स को छपवाने वाले बीजेपी विधायक मंजिंदर सिंह सिरसा की भी तस्वीर इसमे छापी गई है। 

रिपोर्ट पर छिड़ा सियासी घमासान
इस मामले के सामने आने के बाद सियासी घमासान छिड़ा हुआ है। विपक्ष ने मामले को लेकर केजरीवाल सरकार पर हमले तेज कर दिए है। विधानसभा में विपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता ने कहा, ‘’जो भ्रष्टाचार को मिटाने का दावा करते थे उनकी नाक के नीचे से यह सब कुछ हो रहा है अगर यह कहा जाए कि इसमें सरकार की मिलीभगत है तो इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी।’’

कांग्रेस नेता जेपी अग्रवाल ने कहा, ‘’स्कूटर और मोटरसाइकिल पर अनाज की ढुलाई इस बात का इशारा करती है कि अनाज लोगों तक पहुंचा ही नहीं। इस घोटाले की जांच सीबीआई से कराई जानी चाहिए।’’

आप विधायक सौरभ भारद्वाज का कहना है कि अफसरशाही बड़े पैमाने पर करप्शन कर रही हैं, जो सामान गोदामों से राशन की दुकान पर पहुंचना चाहिए था वो पहुंच ही नहीं रहा। हम पहले ही दिन से कह रहे है की सब गड़बड़ चल रहा है, लेकिन एलजी साहब सुनते ही नहीं ही।’’

दिल्ली डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा, ''राशन के खिलाफ हम लोगों ने लंबी लड़ाई लड़ी है। हमें पता है कहां चोरी हो रही है। तीन सालों से लगातार बता रहे हैं कि कहां गड़बड़ है। हमने कहा डोर स्टेप डिलीवरी करने दीजिए, एलजी कहते हैं कि सब ठीक चल रहा है. कैग के खुलासे के बाद अब मानना पड़ेगा।''

कैग की रिपोर्ट में खुलासा
बता दें कि दिल्ली में कैग (कम्पट्रोलर एंड ऑडिटर जनरल) की रिपोर्ट में राशन घोटाले का सच उजागर हुआ है। ऑडिट रिपोर्ट ने केजरीवाल सरकार के कामकाज पर भी गंभीर सवाल उठाए हैं। जिसके मुताबिक राशन वितरण केंद्रों पर 1589 क्विंटल ढुलाई के लिए 9 ऐसी गाड़ियों का इस्तेमाल किया गया जिनका रजिस्ट्रेशन नम्बर बस, तिपहिया वाहन, मोटर साइकिल और स्कूटर का था।