comScore

कुमारस्वामी ने निभाया वादा, किसानों का 2 लाख रुपए तक का कर्जा माफ

July 06th, 2018 11:21 IST
कुमारस्वामी ने निभाया वादा, किसानों का 2 लाख रुपए तक का कर्जा माफ

हाईलाइट

  • कर्नाटक की JDS-कांग्रेस सरकार ने किसानों का कर्ज माफ करने का फैसला लिया है।
  • मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने अपनी सरकार का पहला बजट पेश करते हुए 2 लाख रुपए तक की कर्जमाफी का ऐलान किया।
  • इस फैसले से सरकार के खजाने पर 34 हजार करोड़ रुपए का बोझ पड़ेगा।

डिजिटल डेस्क, बैंगलुरू। कर्नाटक की JDS-कांग्रेस सरकार ने अपना वादा निभाते हुए किसानों का कर्ज माफ करने का फैसला लिया है। मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने अपनी सरकार का पहला बजट पेश करते हुए 2 लाख रुपए तक की कर्जमाफी का ऐलान किया। विधानसभा में बजट पेश करते हुए कुमारस्वामी ने कहा कि पहले चरण में 31 दिसंबर 2017 तक के कृषि लोन माफ किए जाएंगे। इस फैसले से सरकार के खजाने पर 34 हजार करोड़ रुपए का बोझ पड़ेगा।

जिन किसानों ने समयसीमा के अंदर कर्ज चुका दिए हैं, उन्हें प्रोत्साहन के तौर पर चुकाई गई राशि या 25 हजार रुपए की राशि दी जाएगी। कुमारस्वामी ने कहा कि किसानों को नया कर्ज लेने में मदद करने के लिए सरकार डिफॉल्टिंग अकाउंट्स से एरियर खत्म कर देगी, ताकि क्लियरेंस सर्टिफिकेट आसानी से मिल सके।

किसानों को राहत, लेकिन पेट्रोल-डीजल पर टैक्स बढ़ाया

कुमारस्वामी सरकार ने जहां किसानों को राहत दी है, वहीं पेट्रोल-डीजल पर टैक्स बढ़ा दिया है। पेट्रोल पर टैक्स 30 से बढ़ाकर 32 प्रतिशत कर दिया गया है। वहीं डीजल पर टैक्स 19 से बढ़ाकर 21 फीसदी कर दिया गया है। जिसके बाद पेट्रोल के दाम 1.14 रुपए प्रति लीटर बढ़ जाएंगे, वहीं डीजल के दाम में 1.12 रुपए प्रति लीटर का इजाफा होगा।

कल राहुल गांधी ने जताया था कर्जमाफी के फैसले का भरोसा

शुरू की जाएंगी 247 इंदिरा कैंटीन

बजट पेश करते हुए कुमारस्वामी ने ऐलान किया कि सभी जिला मुख्यालयों और तालुकाओं में कुल 247 इंदिरा कैंटीन शुरू की जाएंगी। इसके लिए 211 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। 

कमेंट करें
pIF92
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।