comScore

ट्रांसपोर्ट यूनियन की सबसे बड़ी हड़ताल, थम गए 95 लाख ट्रकों के पहिए

July 20th, 2018 18:18 IST

हाईलाइट

  • देश भर में ट्रांसपोर्ट यूनियन की हड़ताल आज से।
  • थम जाएंगे 95 लाख ट्रकों के पहिए।
  • मांगें पूरी न होने तक जारी रहेगी हड़ताल।

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। ट्रांसपोर्टर्स की सबसे बड़ी यूनियन ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (एआईएमटीसी) आज से अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर है। दरअसल एआईएमटीसी लंबे समय से डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने के साथ केन्द्र और राज्य के करों को कम करने की मांग कर रहा है, लेकिन सरकार की तरफ से अब तक सिर्फ आश्वासन ही मिल रहे हैं, जिससे परेशान ट्रांसपोर्टर्स यूनियन अब अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा रहे हैं। एआईएमटीसी का कहना है कि सुबह 6 बजे से शुरू हुई हड़ताल तब तक जारी रहेगी जब तक मांगें पूरी नहीं हो जाती। 

Image result for ट्रांसपोर्ट हड़ताल

डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने की मांग
डीजल को जीएसटी के दायरे में लाकर केंद्रीय एवं राज्य के करों में कटौती ट्रांसपोर्टरों की मुख्य मांग है अगर ऐसा होता है तो इसका असर डीजल की कीमतों पर होगा और डीजल की कीमतों मे राहत मिल पाएगी। एआईएमटीसी ने यह भी मांग की है कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में हर रोज नहीं बल्कि 3 महीने में संशोधन हो, ट्रांसपोर्टर के लिए टोल बैरियर खत्म हो, थर्ड पार्टी बीमा में जीएसटी में छूट दी जाए और ट्रांसपोर्ट व्यापार पैट टीडीएस खत्म किया जाए।

Related image

पारदर्शी हो टोल राजस्व
यूनियन का कहना है कि टोल राजस्व पारदर्शी होना चाहिए, यूनियन इसके खिलाफ नहीं है पर हम इसके कलेक्शन की कार्यप्रणाली में बदलाव चाहते हैं क्योंकि इसमें बहुत सी खामियां है और गैर-पारदर्शी है। यूनियन ने यह दावा किया है कि इस हड़ताल में देश भर के 95 लाख ट्रकों का चक्का जाम रहेगा।

Image result for ट्रांसपोर्ट हड़ताल

पहले भी हो चुकी है ऐसी हड़तालें
पेट्रोल और डीजल के बढ़े हुए दाम और कटौती में कंजूसी से नाराज ट्रक ड्राइवर्स पहले भी देशव्यापी हड़ताल कर चुके हैं लेकिन सरकार की तरफ से सिर्फ आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला जिसके चलते आज एक बार फिर ट्रांसपोर्टरों की सबसे बड़ी यूनियन ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस देशव्यापी हड़ताल पर है।

Image result for ट्रांसपोर्ट चालक हड़ताल

कमेंट करें
0Bemk