comScore

लॉकडाउन-5: गृहमंत्री ने मुख्यमंत्रियों से जानें राज्यों के वर्तमान हालात, लॉकडाउन बढ़ाने पर मांगे सुझाव


हाईलाइट

  • गृह मंत्री ने लॉकडाउन 4.0 के वर्तमान हालात पर चर्चा की
  • 31 मई को खत्म हो रही है लॉकडाउन-4 की अवधि
  • 31 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे मन की बात

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोरोना वायरस महासंकट के दौर में लॉकडाउन के पांचवे चरण और वर्तमान स्थिति पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने गुरुवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों से चर्चा की। गृहमंत्री ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से उनके राज्य में कोरोना वायरस को लेकर वर्तमान हालात की जानकारी ली। इस दौरान सभी से 31 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर उनके विचार जानें। बता दें कि देश में कोरोना वायरस के मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए लॉकडाउन-4 जारी है, जिसकी अवधि 31 मई को खत्म होने वाली है। क्या देश में लॉकडाउन 5.0 लागू होगा, फिलहाल सबकी नजर इस पर है।

बता दें कि देश में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए 25 मार्च से पूरे देश में लॉकडाउन की शुरुआत की गई थी। देश में लॉकडाउन का फिलहाल चौथा चरण चल रहा है जो 31 मई को समाप्त होगा। माना जा रहा है कि लॉकडाउन के शुरुआती दौर में आम जनजीवन को पूरी तरह से रोक दिया गया था, लोगों को घरों में ही रहने के निर्देश दिए गए थे।आवश्यक सेवाओं के अलावा सभी गतिविधियों पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। हालांकि, समय के साथ लॉकडाउन में राहतें दी गई हैं।

संक्रमित मरीजों की संख्या को देखते हुए लॉकडाउन का बढ़ना तय
सरकारी आंकड़ों के अनुसार भारत में अब तक 1,58,333 लोग संक्रमित हो चुके हैं और 4,531 लोगों की मौत हो चुकी है और 67,691 लोग स्वस्थ हुए हैं। वहीं देश में कोविड के 86,110 ऐक्टिव केस हैं। पिछले 24 घंटों की बात करें तो में 3266 लोग ठीक हुए हैं। रिकवरी रेट 42.75 है। कोरोना के लागतार बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए लॉकडाउन-4 के खत्म होने के पहले ही लॉकडाउन-5 की आहट सुनाई देने लगी है और सरकार इस पर मंथन भी कर रही है। 31 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मन की बात करेंगे। सूत्रों का कहना है कि मन की बात में पीएम मोदी बहुत कुछ साफ कर सकते हैं। वैसे सूत्रों का यही कहना है कि दो हफ्ते के लिए लॉकडाउन का बढ़ना लगभग तय है।

रेड जोन वाले शहरों में रहेगी सख्ती
वैसे सरकार अब लॉकडाउन में ज्यादा छूट देकर अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की कोशिश करती दिख रही है। लेकिन, जिन जिलों में कोरोना संक्रमण ज्यादा है, वहां राहत की उम्मीद कम ही है। सूत्रों के अनुसार रेड जोन वाले शहरों में सख्ती के साथ लॉकडाउन जारी रहेगा। दिल्ली, मुंबई, बैंगलुरू, पुणे, ठाणे, इंदौर, चेन्नई, अहमदाबाद, जयपुर, सूरत और कोलकाता जैसे शहरों में सख्ती रहेगी। इन 11 शहरों में भारत में कुल कोरोना संक्रमित केस के 70 फीसदी मामले मिले हैं। 

देश में कोरोना वायरस की स्थिति

Image

गुरुवार को दिनभर क्या-क्या हुआ

  • रेलवे ने 12 मई से शुरू हुईं राजधानी रूट की 30 स्पेशल ट्रेनों के लिए एडवांस रिजर्वेशन की अवधि 30 से बढ़ाकर 120 दिन कर दिया है। इसके अलावा 1 जून से चलने वालीं 200 ट्रेनों में पार्सल और लगेज बुकिंग भी शुरू कर दी गई है।
  • रेलवे ने प्रवासी मजदूरों को घरों तक पहुंचाने के लिए 1 मई से अब तक 3736 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाईं। इनमें 48 लाख से ज्यादा लोगों ने सफर किया।
  • विदेश मंत्रालय ने बताया कि वंदे भारत मिशन के दूसरे चरण में हमारा लक्ष्य 60 देशों से एक लाख यात्रियों को लेकर आना है। इसके बाद मिशन के तीसरे चरण के लिए भी तैयारियां भी चल रही हैं।
  • नीति आयोग और आईसीएमआर ने कहा- हम वैक्सीन और दवाओं के जरिए कोरोना से जंग जीतेंगे। देश की साइंस और फार्मा इंडस्ट्री मजबूत है। वैक्सीन के लिए शोध जारी है। देश में 30 ग्रुप ऐसे हैं, जो वैक्सीन बनाने के लिए आगे आए हैं।
  • रेलवे वेंडर्स एसोसिएशन ने रेलवे बोर्ड के चेयरमैन से कहा- वे प्लेटफॉर्म पर फूड सर्विस शुरू करने के लिए अभी तैयार नहीं हैं, क्योंकि ज्यादातर वेंडर अपने गांव चले गए हैं। अभी प्लेटफार्म पर मुश्किल ही है कि कोई यात्री वेंडर की सेवाएं ले।


 

कमेंट करें
ibk9L