लखीमपुर खीरी बवाल : महाविकास अघाड़ी सरकार के आह्वान पर लखीमपुर हिंसा के विरोध में महाराष्ट्र बंद

October 11th, 2021

हाईलाइट

  • लखीमपुर हत्या के विरोध में महाराष्ट्र बंद

 डिजिटल डेस्क, मुबंई।  लखीमपुर खीरी बवाल के विरोध में महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ महाविकास अघाड़ी ने आज महाराष्ट्र बंद का आह्वान किया है। महाराष्ट्र सरकार के सहयोगी दलों की ओर से बंद के ऐलान के बाद से जगह जगह पुलिस तैनात की गई है। शहरों में दुकान बंद है। राज्य सरकार ने भारी पुलिस बल की व्यवस्था की गई है। बंद का सबसे ज्यादा असर यातायात पर पड़ता दिख रहा है। महाराष्ट्र बंद का असर कई इलाकों में दिखने को मिल रहा है। सबसे ज्यादा बंद का प्रभाव मुबंई और उसके आस पास के इलाकों में देखने को मिल रहा है। शहर में बसों का चलना बंद है। जिससे आम लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

शिवसेना दबदबा इलाकों में बसों मे ंतोड़फोड़ 

खबर यह भी कि शिवसेना औऱ उसके यूनियन के दबदबे वाले इलाकों में कुछ बसों में भारी नुकसान पहुंचाया गया है। हालांकि महाराष्ट्र बंद के बाद भी रेल अपने समय पर सुचारू रूप से चल रही है। शिवसेना कांग्रेस और एनसीपी ने लखीमपुर खीरी में हूई हिंसक घटना के विरोध में आज महाराष्ट्र बंद का आह्वान किया है। बंद का समर्थन करते हुए शिवसेना के राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने शनिवार को कहा कि उनकी पार्टी पूरी ताकत से महाराष्ट्र बंद करेंगी।

वहीं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि शिवसेना ,एनसीपी और कांग्रेस के कार्यकर्ता लोगों और किसानों से मिलकर एकजुट होकर महाराष्ट्र बंद कर रहे है। 

महाराष्ट्र कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बंद का सफल बनाने के लिए लोगों से अपील की है। 
आज से आठ दिन पहले 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा को लंबी पूछताछ के बाद गिऱफ्तार कर लिया था। आशीष पर किसानों को गाड़ी से कुचलने का आरोप है। जिसमें आठ लोगों की मौत हो गई थी। जिनमें चार किसानों की मौत हो गई थी। उसी के समर्थन में आज महाविकास अघाड़ी सरकार ने राज्य को बंद किया है।