comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

गडकरी बोले, कांग्रेस-शिवसेना-एनसीपी में वैचारिक मतभेद, नहीं चल पाएगी सरकार


हाईलाइट

  • महाराष्ट्र सरकार गठन पर बोले केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी
  • गठबंधन को तोड़ना हिंदुत्व और महाराष्ट्र के लिए नुकसानदायक

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। महाराष्ट्र में कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी के बीच सरकार बनना लगभग तय माना जा रहा है। मुंबई में तीनों दलों के बीच अंतिम दौर की बैठक चल रही है। ऐसे में भाजपा की ओर से केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी के बीच वैचारिक मतभेद हैं। सरकार बनने पर भी सरकार बहुत आगे नहीं बढ़ेगी। 

शिवसेना जिस विचारधारा पर चलती है उसको पूरी तरह कांग्रेस विरोध करती है और कांग्रेस जिस विचारों पर चलती है उसको शिवसेना विरोध करती है। वहीं एनसीपी भी शिवसेना के विचारों से तालमेल नहीं रखती है। गडकरी ने कहा कि यह गठबंधन विचारों और सिद्धांतों के आधार पर नहीं बना हैं। यह अवसरवाद का गठबंधन है और यह टिगेगा नहींं। तीनों दल मिलकर महाराष्ट्र को एक स्थिर सरकार भी नहीं दे पाएंगे।

केंद्रीय मं​त्री ने कहा कि भाजपा और शिवसेना का गठबंधन हिंदुत्व की विचारधारा पर आधारित था और आज भी हमारे बीच वैचारिक मतभेद नहीं हैं। इस तरह के गठबंधन को तोड़ना न केवल देश के लिए, बल्कि हिंदुत्व के लिए और महाराष्ट्र के लिए भी एक नुकसान है।

वहीं झारखंड चुनाव को लेकर गडकरी ने कहा कि  पीएम मोदी और झारखंड सीएम रघुबर दास ने राज्य को जो स्थिर सरकार दी है। उसके तहत झारखंड में सरकार ने जो काम किया है, उसे ध्यान में रखते हुए, मुझे विश्वास है कि झारखंड के लोग दूसरी पारी के लिए सीएम रघुबर दास के नेतृत्व में हमारी जीत सुनिश्चित करेंगे।

कमेंट करें
51FZk