दैनिक भास्कर हिंदी: मुंगेर : मुखिया समेत बेटे को घर से उठा ले गए नक्सली, ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

March 23rd, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंगेर। बिहार के मुंगेर जिले के हवेली खड़गपुर के नक्सल प्रभावित दरियापुर-दो पंचायत के मुखिया भोला वर्मा और उनके पुत्र शंभू वर्मा को नक्सलियों ने गुरुवार देर रात अगवा कर लिया। इस घटना से गुस्साए लोगों ने सड़क जाम कर आगजनी कर दी। बताया जा रहा है कि मुखिया भोला वर्मा घर में खाना खाकर मुंह धो रहे थे, तभी कुछ नकाबपोश नक्सलियों ने उनके घर पर धावा बोल दिया और मुखिया और उनके पुत्र को अगवा कर लिया। घटना की सूचना तत्काल पुलिस को दी गई, जिसके बाद बड़ी संख्या में ग्रामीण और पुलिस के साथ जंगल की ओर मुखिया एवं उनके पुत्र को खोजने के लिए रवाना हुए।

 

ग्रामीणों ने की नारेबाजी

हालांकि देर रात तक तलाश करने के बाद भी दोनों का कुछ पता नहीं चल पाया। घटना के बाद पुलिस-प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की गई। एसपी आशीष भारती ने कहा कि घटना की जानकारी मिलने के बाद से ही पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। यह एक नक्‍सली वारदात है, इसके लिए खड़गपुर एसडीपीओ पोलस कुमार के नेतृत्‍व में टीम का गठन कर दिया गया है। जल्‍द ही मुखिया व उनके पुत्र को सकुशल रिहा करा लिया जाएगा। 

 

कुछ समय पहले की गई थी लेवी की मांग

जानकारी के अनुसार अपहरण के पूर्व दो मोटरसाइकिल पर सवार होकर आए लोगों ने मुखिया के घर से कुछ दूर पहले एक वृद्ध महिला से मुखिया के घर का पता पूछा। जिसके बाद नकाबपोशों ने घर के बाहर टहलने लगे जैसी ही मुखिया और उनका पुत्र दिखाई दिए, नक्सलियों ने हमला बोल दिया और अपहरण कर फरार हो गए। गांववालों के अनुसार, नक्सली संगठन के द्वारा पूर्व में मुखिया से लेवी की भी डिमांड की गई थी। बताया जाता है कि हाल के दिन में रुपए, कम्बल और अन्य सामग्री की डिमांड भी मुखिया द्वारा पूरी की गई थी।

 

बता दें कि मुखिया के परिजन घटना के बाद से दहशत में हैं। वर्ष 2004 में भी इसी पंचायत के मुखिया अरुण यादव की नक्सलियों ने घर से खींचकर हत्या कर दी थी। वर्ष 2011 में इसी पंचायत के मुखिया दरोगी पासवान के पुत्र वरुण पासवान की भी नक्सलियों ने पुलिस मुखबिरी के आरोप में हत्या कर दी थी।