comScore

जयशंकर का पाक पर निशाना, कहा- एक को छोड़कर सभी पड़ोसियों से अच्छे रिश्ते

जयशंकर का पाक पर निशाना, कहा- एक को छोड़कर सभी पड़ोसियों से अच्छे रिश्ते

हाईलाइट

  • अमेरिका दौरे पर कश्मीर मुद्दे पर लोगों से विस्तार से चर्चा करने का मौका मिला
  • कश्मीर के इतिहास, फैसले से जुड़े पक्षों पर बात की
  • विदेश मंत्री ने आर्टिकल 370 पर कई भ्रांतियों को किया दूर

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पड़ोसी देशों के साथ भारत के संबंधों पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना ही निशाना साधा है। इंडिया इकनॉमिक समिट के दौरान उन्होंने कहा कि भारत के सभी पड़ोसी देश 'एक को छोड़कर' क्षेत्रीय सहयोग के लिहाज से अच्छे संबंध रहे हैं। जहां तक सवाल चीन के बेल्ट एंड रोड इनिशियेटिव (बीआरआई) का है तो इस पर भारत का रुख साफ है। किसी एक देश की योजना हमारे लिए भी उपयोगी हो, यह जरूरी नहीं है।

जयशंकर ने कहा कि भारत के मामले में राष्ट्रवाद एक नकारात्मक भावना नहीं है। भारत एक अपवाद है क्योंकि हम अधिक राष्ट्रवादी हैं, किंतु साथ ही हम राष्ट्रीयवादी और अंतरराष्ट्रीय होने के बीच इस दृष्टि से कोई तनाव नहीं देखते हैं कि विश्व के साथ अधिक संपर्क बढ़ाया जाए। लिहाजा राष्ट्रीयता हमारे के लिए कोई नकारात्मक भावना नहीं है।

वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम के प्रेसिडेंट बॉर्ज ब्रेंडे के साथ बातचीत में आर्टिकल 370 पर जवाब देते हुए कहा कि अगर यथास्थिति में बदलाव होता है तो बहुत से लोगों को समन्वय बिठाने में समय लगता है। यह एक सामान्य प्रक्रिया है। लोग जल्द देखेंगे कि इस बदलाव के कारण कश्मीर में कितना विकास होता है। विदेश मंत्री ने कहा कि अमेरिका दौरे के दौरान उन्होंने कश्मीर मुद्दे पर विस्तृत चर्चा की है।

आर्टिकल 370 पर केंद्र सरकार के फैसले पर भारत का पक्ष समझाते हुए विदेश मंत्री ने अमेरिका में कई कार्यक्रमों में चर्चा की। उन्होंने कहा कि मैंने अमेरिका दौरे पर इस (कश्मीर) मुद्दे को लेकर विस्तृत चर्चा की। हमने कश्मीर के बैकग्राउंड, इतिहास, यह फैसला क्यों किया और क्या किया पर बात की। जयशंकर ने यह भी कहा कि कश्मीर को लेकर जिन लोगों से उन्होंने चर्चा की, उन्हें बहुत से नए पक्षों की जानकारी मिली।

अमेरिका दौरे पर कश्मीर को लेकर की चर्चा पर उन्होंने कहा कि लोगों को कश्मीर और आर्टिकल 370 के बारे में बहुत कुछ नहीं पता था। जिन भी लोगों से इस मुद्दे पर मैंने चर्चा की, उनमें से बहुत ही कम ऐसे लोग थे, जिन्हें आर्टिकल 370 के अस्थाई प्रावधान होने के बारे में जानकारी थी। देश के बहुत से कानून जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 होने के कारण लागू नहीं हो सकते थे, ऐसे कई नए तथ्यों के बारे में लोगों को जानकारी मिली।

कमेंट करें
zoehn