दैनिक भास्कर हिंदी: इमरान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने पाकिस्तान पहुंचे सिद्धू

August 18th, 2018

हाईलाइट

  • इमरान खान पाकिस्तान के वजीर-ए-आजम के तौर पर 18 अगस्त शपथ लेंगे।
  • इस समारोह में शामिल होने के लिए पूर्व भारतीय क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू शुक्रवार को पाकिस्तान पहुंच गए।
  • सिद्धू शुक्रवार दोपहर वाघा बॉर्डर के रास्ते लाहौर पहुंचे।

डिजिटल डेस्क, अटारी। इमरान खान पाकिस्तान के वजीर-ए-आजम के तौर पर आज 18 अगस्त को शपथ लेंगे। इस समारोह में शामिल होने के लिए पूर्व भारतीय क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू शुक्रवार को पाकिस्तान पहुंच गए। पाकिस्तान रवाना होने से पहले अटारी वाघा बॉर्डर पर मीडिया से बात करते हुए सिद्धू ने कहा, वह एक सद्भावना दूत के रूप में पाकिस्तान जा रहे है, जिससे दोनों देशों के बीच संबंधों में सुधार होगा।

 

 

वाघा बॉर्डर के रास्ते पहुंचे लाहौर
इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने का न्योता सिद्धू के अलावा पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर और कपिल देव को भी मिला था, लेकिन अकेले सिद्धू ही समारोह में शामिल हो रहे हैं। सिद्धू शुक्रवार दोपहर वाघा बॉर्डर के रास्ते लाहौर पहुंचे। वहां से वह फ्लाइट से इस्लामाबाद जाएंगे। सिद्धू के पास 15 दिनों का वीजा है। इमरान के ताजपोशी मे शामिल हो रहे सिद्धू तोहफे के रूप में इमरान को एक खास भेंट देंगे। वह इमरान को कश्मीरी शॉल पश्मीना देंगे। इस शॉल को मोहब्बत का प्रतीक माना जाता है।

क्या कहा सिद्धू ने?
पाकिस्तान पहुंचने के बाद पाक मीडिया से बात करते हुए नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, ‘मैं राजनीतिक व्यक्ति के रूप में यहां नहीं आया हूं। मैं प्यार, अमन और खुशहाली का सद्भावना दूत बनकर अपने दोस्त के पास आया हूं।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने खान साहब को खेलने के दौरान बहुत देखा है कि कैसे वह अपनी कमजोरी को ताकत में बदल लेते थे, पाकिस्तान को आज इसकी जरूरत है।’

 

 

इमरान खान पाकिस्तान के 22 वें प्रधानमंत्री
शुक्रवार को नेशनल असेंबली ने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के अध्यक्ष इमरान खान को पाकिस्तान के 22वें प्रधानमंत्री के रूप में चुना है। नेशनल असेंबली के 176 सदस्यों ने इमरान के पक्ष में वोट किया, जबकि जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी, पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के अध्यक्ष शाहबाज शरीफ को 96 वोट मिले। मालूम हो कि 25 जुलाई को पाकिस्तान में आम चुनाव हुए थे। 272 सदस्यों वाली नेशनल असेंबली में बहुमत के लिए 137 सदस्यों की जरूरत थी। इमरान की पार्टी 116 सीटों पर ही जीत हासिल कर पाई थी। इसमें नौ निर्दलीय सदस्यों के शामिल होने के बाद यह संख्या बढ़कर 125 हो गई थी। PTI प्रवक्ता फवाद चौधरी ने दावा किया था कि उनकी पार्टी के पास पर्यापत सदस्यों का समर्थन है।