नवाब मलिक : मनी लॉन्ड्रिंग मामला रद्द करने के लिए हाईकोर्ट में गुहार लगाई

March 1st, 2022

हाईलाइट

  • नवाब मलिक ने मनी लॉन्ड्रिंग मामला रद्द करने के लिए हाईकोर्ट में गुहार लगाई

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र के मंत्री और राकांपा नेता नवाब मलिक ने अपने खिलाफ दर्ज धन शोधन मामले और गिरफ्तारी को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट का रुख किया है। अंडरवल्र्ड डॉन दाऊद इब्राहिम से जुड़े धन शोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा 23 फरवरी को गिरफ्तार किए गए मलिक ने अपनी याचिका में अदालत से केंद्रीय जांच एजेंसी द्वारा दर्ज किए गए पीएमएलए मामले को रद्द करने का अनुरोध किया है।

उन्होंने अपनी याचिका में यह भी उल्लेख किया है कि उनकी गिरफ्तारी अवैध थी और उन्हें तुरंत रिहा किया जाए।

मलिक तीन मार्च तक ईडी की हिरासत में है। ईडी ने इस मामले में 18 फरवरी को दाऊद के भाई इकबाल कासकर को गिरफ्तार किया था। इस मामले में छोटा शकील के सहयोगी सलीम कुरैशी से भी पूछताछ की गई है।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी को तीन फरवरी को सूचना मिली थी कि दाऊद इब्राहिम आतंकी फंड जुटा रहा है और लश्कर-ए-तैयबा , जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) तथा अल कायदा (एक्यू) के साथ काम कर रहा है। वह अपने करीबी सहयोगियों के माध्यम से भारत में आपराधिक गतिविधियों को अंजाम दे रहा है।

ईडी ने दाऊद के खिलाफ पीएमएलए का मामला दर्ज किया था। एक अन्य मामला उसके भाई इकबाल कासकर, इकबाल मिर्ची और 19 अन्य के खिलाफ भी दर्ज किया गया था। बाद में दोनों मामलों को ईडी ने अपने हाथों में ले लिया था।

केंद्रीय जांच एजेंसी ने नौ छापामार अभियानों में दाऊद के सहयोगियों के परिसरों से आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद किए थे।

छोटा शकील के रिश्तेदार सलीम फ्रूट ने जांच एजेंसी को बताया कि 2006 में पाकिस्तान यात्रा के दौरान वह छोटा शकील से तीन से चार बार मिला था।

आईएएनएस