comScore

Anti CAA/NRC Protest: नोएडा से फरीदाबाद जाने वाला रास्ता खुलने के 10 मिनट बाद ही हुआ बंद

Anti CAA/NRC Protest: नोएडा से फरीदाबाद जाने वाला रास्ता खुलने के 10 मिनट बाद ही हुआ बंद

हाईलाइट

  • 15 दिसंबर से रास्ता बंद था
  • शाहीन बाग की सड़क अभी भी बंद है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में पिछले दो महीने से बंद नोएडा-फरीदाबाद का रास्ता शुक्रवार सुबह खुलते ही 10 मिनट के अंदर बंद हो गया। शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन के चलते रास्ता 69 दिन से बंद था। ट्रैफिक पुलिस का कहना है कि डीएनडी पर किसी गाड़ी के खराब होने के कारण कुछ देर के लिए रास्ता खोला गया था। 

शाहीन बाग का रास्ता नहीं खुला

शाहीन बाग की ओर से जाने वाली सड़क को नहीं खोला गया है। इस रास्ते को खोलने के लिए सर्वोच्च न्यायालय ने दो वार्ताकार को नियुक्त किया है। दोनों वार्ताकार संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन दो दिन शाहीन बाग पहुंचे थे और प्रदर्शनकारियों से बातचीत की।

वातार्कारों ने की प्रदर्शनकारी महिलाओं से मुलाकात

वातार्कारों ने लगातार दूसरे दिन गुरुवार को शाहीनबाग की प्रदर्शनकारी महिलाओं से मुलाकात की। मगर उनके जाने के बाद वे खुश नजर नहीं आईं। साधना रामचंद्रन के यह कहने पर कि शुक्रवार को हम 10-15 महिलाओं से अलग में बात करेंगे, इस तरह खुले मंच से बातचीत नहीं हो सकती। आप ही जगह चुनिए और 10-10 का ग्रुप बना लीजिए, ताकि बात कर हम कोई हल निकाल सकें, शाहीनबाग की महिलाओं ने नाराजगी जताई।

एक प्रदर्शनकारी महिला ने कहा कि ये लोग सीएए या एनआरसी पर बात करने नहीं आए हैं, ये सिर्फ सड़क खुलवाने आए हैं। इन्हें हमारी परेशानी से कोई मतलब नहीं है। साधनाजी कहती हैं कि ग्रुप में बात करो, हम क्या बात करेंगे ग्रुप में? 10 महिलाएं जाएंगी और वहां सिर्फ एक बोलेगी, बाकियों के दिल की बात दिल में ही रह जाएगी।

महिला ने आगे कहा, हम तो पहले से ही बोल रहे हैं पुलिस ने जो सड़क बंद कर रखी है, उसे खोली जाए। वकील साधना रामचंद्रन ने आंदोलकारियों को चेताया कि अगर बात नहीं बनी तो मामला फिर सुप्रीम कोर्ट में जाएगा। तब सरकार जो चाहेगी, करेगी।
 

कमेंट करें
O0yEC