comScore

चुनाव से पहले तय न करें प्रधानमंत्री उम्मीदवार का नाम: ममता बनर्जी

July 28th, 2018 16:38 IST

हाईलाइट

  • जम्मू-कश्मीर के प्रमुख दल नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की।
  • उमर अब्दुल्ला ने कोलकाता स्थित पश्चिम बंगाल के राज्य सचिवालय नबन्ना में मुख्यमंत्री से मुलाकात की।
  • इस मुलाकात को लेकर उमर अब्दुल्ला ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी में पश्चिम बंगाल की भलाई के लिए ऐतिहासिक काम किए हैं।

डिजिटल डेस्क, कोलकाता। विपक्ष के लिए यह तय करना दिन ब दिन मुश्किल होता जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती देने के लिए 2019 में विपक्ष का पीएम उम्मीदवार कौन होगा। जनता दल सेक्युलर (जेडीएस), राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नाम पर सहमति जता चुकी है। विपक्ष में अहम रोल निभाने वाली पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने  कहा है कि चुनाव से पहले प्रधानमंत्री पद के तौर पर किसी का नाम नहीं चुना जाना चाहिए। जम्मू-कश्मीर के प्रमुख दल नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की। ये मुलाकात कोलकाता स्थित पश्चिम बंगाल के राज्य सचिवालय नबन्ना में हुई। इस मुलाकात को लेकर उमर अब्दुल्ला ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी में पश्चिम बंगाल की भलाई के लिए ऐतिहासिक काम किए हैं। इन कामों को देशभर में फैलाने की जरूरत है, इसलिए वह यहां ममता बनर्जी से मुलाकात करने आए हैं, ताकि उन्हें दिल्ली खींचकर ले जाया जा सके।

क्या कहा उमर अब्दुल्ला ने?
उमर अब्दुल्ला ने कहा कि ममता दीदी हमेशा से कश्मीर को लेकर चिंतित रही हैं। हमने मेरे राज्य की वर्तमान स्थिति पर चर्चा की। हमने देश में वर्तमान स्थिति और अल्पसंख्यकों में प्रबल होते डर के बारे में चर्चा की। उन्होंने एक बार फिर 2019 लोकसभा चुनाव से पहले एक होकर बीजेपी को मात देने की बात कही। उन्होंने कहा कि हम हर उस पार्टी को शामिल करेंगे जो बीजेपी के खिलाफ हैं। प्रधानमंत्री के सवाल पर उन्होंने कहा कि अभी इसके लिए बहुत समय है। पहले मिलकर चुनाव लड़ा जाएगा, बीजेपी को मुकाबला दिया जाएगा और फिर बाद में बैठकर फैसला करेंगे। उन्होंने ये भी कहा कि नेशनल कॉन्फ्रेंस और टीएमसी की विचारधारा मिलती-जुलती है। दोनों ही दल देश की जनता की भलाई, अल्पसंख्यकों और दलितों के हितों के लिए संघर्ष कर रहे हैं। इसलिए उन्होंने ममता बनर्जी से मुलाकात की है।

कमेंट करें
Gn7Cv