दैनिक भास्कर हिंदी: रिश्ते टूटने से बचाने के लिए हुए ऑनलाइन निकाह

April 17th, 2020

हाईलाइट

  • रिश्ते टूटने से बचाने के लिए हुए ऑनलाइन निकाह

गुना, 17 अप्रैल (आईएएनएस)। कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए सारे सार्वजनिक कार्यक्र्रमों पर रोक है और सोशल डिस्टेंसिंग पर अमल किया जा रहा है। इसका एक उदाहरण मध्य प्रदेश के गुना में देखने को मिला जहां निकाह ऑनलाइन कबूल कराए गए और विदाई लॉक डाउन खत्म होने के बाद होगी।

गुना के शहर काजी नूर उल्लाह यूसुफ जई ने आईएएनएस को शुक्रवार को बताया कि गुना जिले में 16 अप्रैल को चार स्थानों पर सामूहिक विवाह समारोहों का आयोजन किया गया था। इनमें 150 निकाह होने थे, मगर कोरोना के कारण सभी कार्यक्रमों को निरस्त कर दिया गया। अधिकांश तो बाद में निकाह करने के लिए राजी हो गए मगर 12 जोड़ों का निकाह जरुरी था क्योंकि इनमें कई ऐसे थे जिनके रिश्ते बड़ी मुश्किल से हुए थे। लिहाजा ऑनलाइन निकाह पढ़ाने का फैसला हुआ।

वे आगे बताते हैं कि जिनका निकाह ऑनलाइन कराया गया है उनमें से कई जोड़े ऐसे थे जिनके रिश्ते तक टूटने की स्थिति बन सकती थी। इसलिए सभी रिवाजों को पूरा करते हुए इस्लामिक विधि के अनुसार ऑनलाइन निकाह कराए गए।

शहर काजी जई ने बताया कि यह सभी 12 जोड़े गुना और आसपास के जिलों के हैं। इस्लामिक परंपरा के अनुसार निकाह के समय लड़के और लड़की की तरफ से दो-दो गवाह होते हैं और पहले लड़की से कबूल कराया जाता है। इस परंपरा को स्काइप के जरिए लड़के और लड़की को ऑनलाइन जोड़ा गया। पहले लड़की से कबूल कराया और फिर लड़के से कबूल कराया गया। दोनों के दो-दो गवाह मौजूद रहे।

उन्होंने आगे बताया कि निकाह तो हो गए मगर विदाई की रस्म लॉक डाउन के बाद ही होगी। इसके लिए दोनों पक्ष राजी भी हैं।