comScore

कुदरत का कहर: बिहार में बिजली गिरने से 22 लोगों की मौत, सात दिन में 129 लोगों ने जान गंवाई

कुदरत का कहर: बिहार में बिजली गिरने से 22 लोगों की मौत, सात दिन में 129 लोगों ने जान गंवाई

हाईलाइट

  • 30 जून को बिहार के विभिन्न जिलों में वज्रपात से 11 लोगों की मौत हुई थी
  • 26 जून को बिहार में बिजली गिरने से 96 लोगों की मौत हुई थी
  • मौसम विज्ञान केंद्र ने अगले 48 घंटे के लिए बिहार में एलर्ट जारी किया

डिजिटल डेस्क, पटना। बिहार में गुरुवार को एक बार फिर आकाशीय बिजली (वज्रपात) गिरने से 22 लोगों की मौत हो गई है और कई लोगों के घायल होने की सूचना मिली है। मौसम विज्ञान केंद्र ने अगले 48 घंटे के लिए बिहार के मधुबनी, दरभंगा, गोपालगंज, शिवहर, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर सहित कई जिलों में बारिश के साथ वज्रपात का अलर्ट जारी किया है। बता दें कि बिहार में बीते सात दिन में आकाशीय बिजली गिरने से बिहार में बीते सात दिन में 129 लोगों की मौत हुई है। इससे पहले उल्लेखनीय है कि मंगलवार 30 जून को बिहार के विभिन्न जिलों में वज्रपात से 11 लोगों की मौत हुई थी, जबकि 26 जून को राज्य में वज्रपात की चपेट में आने से 96 लोगों की मौत हुई थी। 

जानकारी के अनुसार ज्यादातर लोगों की मौत खेत में काम करने के दौरान हुई है। इस समय बिहार में धान की रोपनी का काम चल रहा है। लोग इसी काम के लिए अपने खेतों की तरफ गए हुए थे। इसी दौरान ठनका गिरने से वे इसके चपेट में आ गए।

8 जिलों में 22 लोगों की मौत, पटना में स​बसे ज्यादा 6 मौतें
बिहार राज्य आपातकालीन संचालन केंद्र, पटना ने फोन पर प्राप्त हुई जानकारी के हिसाब से एक लिस्ट जारी की है। इसमें आठ जिलों में 22 लोगों की मौत की बात कही गई है। आपदा प्रबंधन विभाग की लिस्ट के मुताबिक, सबसे अधिक 6 लोग पटना में, इसके बाद पूर्वी चंपारण में चार लोग, समस्तीपुर में तीन, शिवहर में दो, कटिहार में तीन, मधेपुरा में दो और पूर्णिया व पश्चिमी चंपारण में एक-एक व्यक्ति की मौत आकाशीय बिजली की चपेट में आने से हुई है। 

कमेंट करें
Xto0J