दैनिक भास्कर हिंदी: पालघर केस: साधुओं के वकील दिग्विजय त्रिवेदी की मौत, बीजेपी ने की जांच की मांग

May 15th, 2020

हाईलाइट

  • वकील दिग्विजय त्रिवेदी की सड़क हादसे में मौत
  • पालघर में दो साधुओं की कर दी गई थी हत्या

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र के पालघर में साधुओं की हत्या का केस लड़ रहे वकील के सहयोगी दिग्विजय त्रिवेदी की सड़क हादसे में मौत हो गई। हादसा बुधवार को मुंबई व अहमदाबाद हाइवे पर हुआ, जब त्रिवेदी अपनी कार से अदालत जा रहे थे। दिग्विजय त्रिवेदी की मौत पर बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा, सांसद विनय सहस्त्रबुद्धे और विश्व हिंदू परिषद के प्रवक्ता विजय शंकर तिवारी ने सवाल खड़े किए हैं और जांच की मांग की है। 

खबर विचलित करने वाली है
संबित पात्रा ने ट्वीट कर कहा कि पालघर में संतो की हत्या मामले में विश्व हिंदू परिषद के वकील दिग्विजय त्रिवेदी की सड़क हादसे में मृत्यु हो गई। यह खबर विचलित करने वाली है। उन्होंने कहा कि क्या ये केवल संयोग है की जिन लोगों ने पालघर मामले को उठाया उनपर या तो कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हमला किया या एफआईआर कराया? खैर ये जांच का विषय है। 

न्यायिक जांच होनी चाहिए
बीजेपी सांसद विनय सहस्त्रबुद्धे ने कहा कि यह काफी चौंकाने वाला है। इसकी जांच होनी चाहिए। मैं महाराष्ट्र के डीजीपी और मुख्यमंत्री से मामले की जांच के आदेश देने की मांग करता हूं। वहीं विहिप प्रवक्ता विजय शंकर तिवारी ने कहा कि पालघर में साधुओं के हत्याकांड केस में वकील दिग्विजय त्रिवेदी की कार हादसे में आसामयिक मौत हो गई। हालांकि लोग प्रश्न उठा रहे हैं कि कहीं ये साजिश तो नहीं, इसकी जांच होनी चाहिए। 

सास ने काम के लिए बोला तो नाराज बहू ने कर दी मारपीट, सड़क पर घसीट कर पीटा

क्या है पालघर घटना?
घटना 16 अप्रैल को गढ़चिंचले गांव में हुई थी। सैकड़ो लोगों ने बच्चा चोर समझकर गाड़ी में सवार साधुओं सुशीलगिरी महाराज और कल्पवृक्षगिरी महाराज के साथ उनके ड्राइवर नीलेश तेलगडे को पीट पीटकर मार दिया था। मौके पर पहुंची पुलिस की टीम भी उन्हें बचा नहीं पाई थी और भीड़ पुलिसवालों पर हमला कर साधुओं को उनके कब्जे से खींच ले गए थे।