comScore

अमृतसर ट्रेन हादसे के लिए पटरी पर खड़े लोग जिम्मेदार : रेलवे की जांच रिपोर्ट

November 23rd, 2018 10:23 IST

हाईलाइट

  • 19 अक्टूबर को अमृतसर में हुई ट्रेन दुर्घटना में 61 लोगों की मौत हो गई थी।
  • सूत्र बताते है कि CCRS ने जांच में निष्कर्ष निकाला है कि दुर्घटना का कारण पटरियों पर खेड़े लोगों की लापरवाही है।
  • रेल हादसे में ट्रेन के ड्राइवर, गार्ड समेत अन्य रेल कर्मियों को क्लीन चिट दे दी गई है।

डिजिटल डेस्क, अमृतसर। 19 अक्टूबर को अमृतसर में हुई ट्रेन दुर्घटना में 61 लोगों की मौत हो गई थी। सूत्र बताते हैं कि चीफ कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी (CCRS) एसके पाठक ने जांच में निष्कर्ष निकाला है कि दुर्घटना का कारण पटरियों पर खेड़े लोगों की लापरवाही है जो दशहरा के आयोजन को देखने के लिए वहां खड़े थे। रेल हादसे में ट्रेन के ड्राइवर, गार्ड समेत अन्य रेल कर्मियों को क्लीन चिट दे दी गई है। CCRS ने ये भी कहा है कि मेला, रैली जैसे बड़े इवेंट्स के आयोजन से पहले जिला प्रशासन और ऑर्गेनाइजर रेल प्रशासन को इसकी सचूना दें। ताकि रेलवे उचित सावधानी बरत सके।

इससे पहले बुधवार को जालंधर के डिविजनल कमिश्नर बी पुरुषार्थ ने अमृतसर ट्रेन हादसे की रिपोर्ट गृह मंत्रालय को सौंपी थी। बताया जा रहा है कि यह रिपोर्ट करीब 300 पन्नों की है। हादसे के बाद मामले की जांच  22 अक्टूबर को शुरू की गई थी। इस दौरान विभिन्न विभागों के ऑफिसर्स, दशहरा कमेटी ईस्ट के पदाधिकारियों, चश्मदीदों सहित 150 से ज्यादा लोगों से पूछताछ की गई। वहीं लोकल बॉडीज मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू, उनकी पत्नी व दशहरा आयोजन की मुख्यातिथि डाॅ. नवजोत कौर सिद्धू, रेलवे डीआरएम, डीसी, पुलिस कमिश्नर सहित 50 से ज्यादा लोगों को समन भेजकर तलब किया गया था। 

बता दें कि पंजाब के अमृतसर में 19 अक्टूबर को रावण दहन के दौरान जौड़ा फाटक पर ट्रेन की चपेट में आने से 61 लोगों की मौत हो गई थी। वहीं 57 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे। सभी लोग दशहरा देखने के लिए यहां पर पहुंचे थे। हादसे के वक्त घटनास्थल पर सैकड़ों की तादाद में लोग मौजूद थे। भीड़ ज्यादा होने के कारण कई लोग रेलवे ट्रैक पर खड़े हो गए थे, तभी अचानक ट्रेन आ गई और लोग उसकी चपेट में आ गए। हादसा ट्रेन 74943 नाकोदर-जालंधर सिटी डीएमयू से हुआ था, जो जालंधर से अमृतसर की तरफ से आ रही थी।

कमेंट करें
w0fhp