दैनिक भास्कर हिंदी: पीयूष गोयल ने पत्रकार को दिया एक दिन का रेलमंत्री बनने का ऑफर

June 12th, 2018

हाईलाइट

  • रेलमंत्री पीयूष गोयल का एक पत्रकार को एक दिन का रेल मंत्री बनने का ऑफर।
  • पत्रकार को सुझावों से प्रभावित हुए रेल मंत्री।
  • पत्रकार ने रेलवे की समस्याओं को दूर करने के लिए तमाम सुझावों से संबंधित एक पत्र उन्हें सौंपा था।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अनिल कूपर की फिल्म नायक में जिस तरह से फिल्म के हीरो को एक दिन का सीएम बनने का ऑफर दिया गया था उसी तरह रेलमंत्री पीयूष गोयल ने भी एक पत्रकार के सुझावों से प्रभावित होकर उन्हें एक दिन का रेलमंत्री बनने का ऑफर दिया है। ये वाक्या सोमवार को मोदी सरकार के चार साल पूरे होने पर रेलवे की उपलब्धियों को लेकर की जा रही प्रेस कॉन्फ्रेंस का है। पहले वहां मौजूद पत्रकारों को लगा कि रेलमंत्री मजाक कर रहे है लेकिन बाद में जब उन्होंने मॉक इवेंट आयोजित करने की बात कही तो पता चला कि वह इस बात को लेकर सीरियस है।

आप मेरी जगह लो और खुद नियम-कायदों को लागू करो
रेल मंत्री पीयूष गोयल की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उनकी मुलाकात एक पत्रकार से हुई। पत्रकार ने रेलवे की समस्याओं को दूर करने के लिए तमाम सुझावों से संबंधित एक पत्र उन्हें सौंपा। इस पर रेल मंत्री मुस्कुराने लगे और उन्होंने पत्रकार को एक ऑफर दिया, यह ऑफर था एक दिन के लिए रेल मंत्री बनने का। उन्होंने कहा कि फिल्म नायक की तरह एक दिन आप मेरी जगह लो और खुद नियम-कायदों को लागू करो। रेल मंत्री ने यह बात सिर्फ मजाक में नहीं कही, बल्कि रेल बोर्ड चेयरमैन को इस तरह का एक मॉक इवेंट भी आयोजित करने को कहा, ताकि हर किसी का मनोरंजन हो सके।

ट्रेन की लेट लतीफी के कारण आलोचनाएं
बता दें कि पिछले कई महीने से ट्रेनों के देरी से संचालन के कारण रेलवे को आलोचनाएं झेलनी पड़ रही है। समय से चलने वाली राजधानी जैसी सुफरफास्ट ट्रेनें भी इस दौरान लेट हुई। कई गाड़ियों ने तो 50-50 घंटे देरी का भी रिकॉर्ड बनाया। वहीं रेलवे बोर्ड इसके पीछे मेंटेनेंस को जिम्मेदार बताकर बचाव करता रहा है। खुद रेल मंत्री पीयूष गोयल ने देर से चल रही ट्रेनों का संज्ञान लेकर रेलवे स्टॉफ को सख्त चेतावनी दी थी।