जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास: पीएम नरेंद्र मोदी ने किया एशिया के सबसे बड़े एयरपोर्ट का शिलान्यास, सीएम योगी भी साथ, यूपी में अब कुल 9 एयरपोर्ट

November 25th, 2021

हाईलाइट

  • जेवर हवाई अड्डे से अर्थव्यवस्था को मिलेगी गति

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने आज उत्तर प्रदेश के नोएडा  के जेवर में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की आधारशिला रखी। इस एयरपोर्ट के शुरू होने से उत्तर प्रदेश पांच अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट वाला देश का पहला राज्य होगा। अगले साल की शुरुआत में उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं। 

करोड़ों लोगों को होगा लाभ

पीएम नरेंद्र मोदी ने इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया। शिलान्यास के बाद पीएम मोदी ने कहा कि इस एयरपोर्ट से पूरे क्षेत्र के विकास को नई गति और नई उड़ान मिलेगी। उन्होंने कहा जिस तरह समुद्र तट पर स्थित शहरों का विकास बंदरगाह और पोर्ट से होता है उसी तरह जमीन से घिरे राज्यों के विकास के लिए जेवर जैसी इबारतें लिखनी पड़ती है। इस एयरपोर्ट से पश्चिमी उत्तरप्रदेश का सामर्थ्य बढ़ जाएगा। छोटे किसान सीधे एक्सपोर्ट का लाभ ले सकेंगे। दूसरी इंड्स्ट्रीज को भी इसका लाभ मिलेगा।

 

योगी ने कहा धन्यवाद

सीएम योगी ने कहा कि इस एयरपोर्ट के निर्माण के लिए देश के सात हजार किसानों ने बिना किसी  विवाद के अपनी जमीन देदी। मैं ऐसे सभी किसानों का धन्यवाद करता हूं। इस बीच सीएम योगी ने गन्ना किसानों का भी जिक्र किया। और उनके विकास के रोडमैप की जानकारी भी दी। सीएम योगी ने कहा कि पश्चिमी यूपी के विकास के लिए अहम कदम है।

सिंधिया ने बताया पूरा प्लान

नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि एयरपोर्ट का पहला फेज 2024 तक पूरा हो जाएगा। इसका मतलब तीन साल के अंदर यहां फ्लाइट लैंड करना शुरू कर देंगी। इस एयरपोर्ट के बनने के बाद यहां 34 हजार करोड़ तक का निवेश आने वाला है। सिंधिया ने कहा कि इस एयरपोर्ट की वजह से रोजगार के एक लाख अवसर बनेंगे।

ऐसा होगा एयरपोर्ट

जेवर एयरपोर्ट के आने से नौकरियों के एक लाख अवसर पैदा होंगे सरकार  की तरफ से ऐसे वादे भी किए जा रहे है।  जेवर एयरपोर्ट 1,334 हेक्टेयर भूमि में फैला है। इसमें लगभग 1.2 करोड़ यात्रियों की सेवा करने की क्षमता है। जेवर हवाई अड्डे के साथ सरकार क्षेत्र की अर्थव्यवस्था को गति देने की उम्मीद कर रही है। जिसका फायदा वह आगामी चुनावों में मिलने के तौर पर देख रही है।

अधिकारियों के अनुसार, हवाई अड्डे से शुरुआती वर्षों में आसपास के क्षेत्रों के लिए 10,000 करोड़ रुपये के निवेश की उम्मीद है। दिल्ली  से लगभग 72 किमी और दादरी में मल्टी-नोडल लॉजिस्टिक्स हब से 40 किमी दूर, इस हवाई अड्डे से राज्य की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है। जेवर एयरपोर्ट का संचालन 2024 तक शुरू हो जाएगा।