दैनिक भास्कर हिंदी: देशभर में उपवास पर बीजेपी, मोदी-शाह के मेन्यू में लंच-डिनर का जिक्र

April 12th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। बजट सेशन में विपक्षी पार्टियों के हंगामे के खिलाफ गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उपवास रखा। जबकि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह कर्नाटक के हुबली में धरने पर बैठे। इनके अलावा सभी बीजेपी सांसदों और नेताओं को भी एक दिन का उपवास रखा। उपवास के दौरान ही प्रधानमंत्री मोदी गुरुवार को चेन्नई पहुंचे, जहां उन्होंने डिफेंस एक्सपो-2018 में मेक इन इंडिया स्टॉल का उद्घाटन किया। बता दें कि दलित अत्याचार के खिलाफ 9 अप्रैल को कांग्रेस ने भी उपवास रखा था।

किसने-कहां रखा उपवास?

उपवास के दौरान ही प्रधानमंत्री मोदी तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई पहुंचे, जबकि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह चुनावी राज्य कर्नाटक के हुबली में धरने पर बैठे। इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद पटना में, गिरिराज सिंह नवादा में, महेश शर्मा नोएडा में, जेपी नड्डा वाराणसी में, प्रकाश जावड़ेकर बेंगलुरु में, राधामोहन सिंह मोतिहारी में, थावरचंद गहलोत इंदौर में, निर्मला सीतारमण चेन्नई में, दिल्ली में सुषमा स्वराज, राजनाथ सिंह, धर्मेंद्र प्रधान, मेनका गांधी, मीनाक्षी लेखी और स्मृति ईरानी उपवास रखा। बीजेपी सांसदों का ये उपवास सुबह 10 बजे से शुरू हुआ, जो शाम के 5 बजे तक रहेगा। 

 

 

 

उपवास के दौरान लंच-ब्रेकफास्ट का जिक्र

पीएम मोदी समेत बीजेपी सांसदों ने गुरुवार को उपवास का ऐलान तो किया, लेकिन उन्होंने लंच और ब्रेकफास्ट का जिक्र भी कर दिया। दरअसल, गुरुवार को पीएम मोदी चेन्नई पहुंचे। उनके इस दौरे का प्रोग्राम था, जिसे कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने शेयर किया है। प्रोग्राम के मुताबिक, पीएम मोदी का सुबह 6:40 बजे दिल्ली एयरपोर्ट से निकलते वक्त ब्रेकफास्ट करना था और दोपहर 2:25 बजे लंच था। इसी तरह से बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह आज कर्नाटक दौरे पर पहुंचे। अपने कार्यक्रम का शेड्यूल भी अमित शाह ने शेयर किया। उनके कार्यक्रम में भी दोपहर 1:30 बजे किसानों के साथ लंच करने की बात लिखी थी।

 

 

 

 

 

 



विरोधियों को बेनकाब करने का समय : PM

बुधवार को उपवास से एक दिन पहले प्रधानमंत्री मोदी ने एक कार्यक्रम में बोलते हुए कांग्रेस समेत विपक्षी पार्टियों पर बड़ा हमला बोला। पीएम ने कहा 'जिन लोगों ने राजनीतिक अहंकार और सत्ता की भूख से प्रेरित होकर देश को आगे नहीं बढ़ने दिया। लोकतंत्र के मंदिर को चलने नहीं दिया। हम उन मुठ्ठी भर लोगों की मानसिकता को देश के लोगों के सामने उजागर करेंगे। ये वो लोग हैं, जो 2014 में सत्ता मिलने की ख्वाहिश पाल कर बैठे थे, लेकिन जनता ने उन्हें सबक सिखा दिया था। अपनी करारी हार को वो लोग भूल नहीं पाते हैं। अपने स्वार्थ के लिए देश को विकास के रास्ते से बेपटरी करने की तैयारी में हैं। अब समय आ चुका है कि बीजेपी के सांसद, विधायक और कार्यकर्ता जमीन पर उतर कर विपक्षियों को बेनकाब करें।'

 

 

 



राहुल बोले- उन्नाव घटना पर भी रखें उपवास

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी के उपवास पर चुटकी लेते हुए कहा है कि उम्मीद है कि पीएम उन्नाव घटना पर भी उपवास रखेंगे। राहुल ने बुधवार को ट्वीट कर कहा 'उत्तर प्रदेश में अपने के लिए न्याय की गुहार कर रहे एक पिता पर हुई बर्बरता ने मानवता को शर्मसार कर दिया है। आशा है कि प्रधानमंत्री जी बीजेपी शासन में महिलाओं पर हो रहे अत्याचार, कानून तंत्र की विफलता और बढ़ती अराजकता के लिए भी जल्द ही उपवास रखेंगे।'

 

 



फोटो खिंचवाने की तैयारी है ये : कांग्रेस

कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पीएम मोदी के इस उपवास को 'फोटो खिंचवाने' की तैयारी बताया है। रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि 'प्रधानमंत्री और बीजेपी नेता कल उपवास का स्वांग कर फोटो खिंचवाने की तैयारी में हैं। इसके पीछे बीजेपी का बहाना है कि संसद नहीं चल पाई। प्रजातंत्र के सबसे बड़े मंदिर, देश की संसद को बीजेपी ने न तो विपक्ष में रहते चलने दिया और न ही सत्तापक्ष में रहकर चलने दे रही है।' उन्होंने कहा 'प्रधानमंत्री जी अब उपवास का समय नहीं, आपकी विफलताओं के चलते संन्यास का समय है। अगर अब भी नहीं जागे तो ये मान लीजिए कि 2019 में आपके वनवास का समय है।' उन्होंने ये भी कहा कि अगर उपवास रखना ही है तो प्रायश्चित का उपवास रखिए।

बजट सेशन की सैलरी नहीं लेंगे बीजेपी सांसद

बजट सेशन के दूसरे हिस्से में लगातार हंगामा होता रहा और संसद एक दिन भी ठीक से नहीं चल पाई। बीजेपी ने इसके लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है। बजट सेशन ठीक तरह से नहीं चलने के कारण बीजेपी के सभी सांसदों ने 23 दिन की सैलरी छोड़ने का फैसला लिया है। प्रधानमंत्री मोदी भी 5 मार्च से 6 अप्रैल तक की सैलरी नहीं लेंगे। पीएम की 23 दिनों की सैलरी करीब 79,752 रुपए है।