दैनिक भास्कर हिंदी: महबूबा : माता वैष्णो का रूप थी बच्ची, उसके साथ ऐसा क्यों?, राष्ट्रपति ने भी बताया 'शर्मनाक'

April 18th, 2018

डिजिटल डेस्क, जम्मू। जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को श्री माता वैष्णो देवी यूनिवर्सिटी के कॉन्वोकेशन प्रोग्राम मे कठुआ गैंगरेप पर फिर बयान दिया। उन्होंने कठुआ गैंगरेपी की पीड़िता 8 साल की मासूम को वैष्णो देवी का रूप बताया। उन्होंने कहा 'वो बच्ची माता वैष्णो का रूप थी, उसके साथ ऐसा कोई कैसे कर सकता है?' वहीं इसी प्रोग्राम में मौजूद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी इस घटना को 'शर्मनाक' बताया। उन्होंने कहा कि उस मासूम बच्ची को इंसाफ मिलना चाहिए।

महबूबा मुफ्ती ने क्या कहा?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कॉन्वोकेशन प्रोग्राम में कठुआ गैंगरेप घटना का जिक्र करते हुए सीएम महबूबा मुफ्ती ने कहा 'कोई कैसे छोटी बच्ची के साथ इतनी क्रूर हरकत कर सकता है। वो बच्ची माता वैष्णो का रूप थी। हमारे समाज में जरूर कुछ गलत है।'

राष्ट्रपति कोविंद ने क्या कहा?

वहीं कार्यक्रम में मौजूद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा 'दुनिया की सबसे खूबसूरत चीज है किसी मासूम बच्चे की मुस्कान। समाज की सबसे बड़ी सफलता है हमारे बच्चों का सुरक्षित होना। हर बच्चे को सुरक्षा देना और उसे सुरक्षित महसूस कराना किसी भी समाज की पहली जिम्मेदारी होती है। देश के किसी न किसी कोने में, कहीं न कहीं, हमारे बच्चे जघन्य अपराधों के शिकार हो रहे हैं। हाल ही में इस राज्य में एक मासूम बच्ची के साथ ऐसी ही बर्बरता हुई और उसकी हत्या कर दी गई, जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती।' उन्होंने कहा 'आजादी के 70 साल भी अगर देश के किसी हिस्से में इस तरह की घटनाएं हो रही हैं, तो ये शर्मनाक है। हमें सोचना होगा कि हम किस तरह का समाज बना रहे हैं।' उन्होंने कहा कि इस केस में बच्ची को इंसाफ मिलना चाहिए।

मुझे बोलने की सलाह देते थे, अब खुद भी उस पर अमल करें मोदी : मनमोहन सिंह

गैगरेप की घटनाओं पर पीएम मोदी ने क्या कहा था?

कठुआ और उन्नाव रेप केस पर चुप्पी तोड़ते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि बेटियों को न्याय मिलेगा और अपराधियों को बख्शा नहीं जाएगा। पीएम मोदी ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा था 'जिस तरह की घटनाएं हमने बीते दिनों में देखीं हैं, वो सामाजिक न्याय की अवधारणा को चुनौती देती हैं। पिछले 2 दिनो से जो घटनाएं चर्चा में हैं वो निश्चित रूप से किसी भी सभ्य समाज के लिये शर्मनाक है। एक समाज के रूप में, एक देश के रूप में हम सब इस के लिए शर्मसार है।' उन्होंने कहा था 'देश के किसी भी राज्य में, किसी भी क्षेत्र में होने वाली ऐसी वारदातें, हमारी मानवीय संवेदनाओं को झकझोर देती हैं। मैं देश को विश्वास दिलाना चाहता हूँ की कोई अपराधी बचेगा नहीं, न्याय होगा और पूरा होगा। हमारे समाज की इस आंतरिक बुराई को खत्म करने का काम, हम सभी को मिलकर करना होगा।'

क्या है कठुआ रेप-मर्डर केस?

दरअसल, 10 जनवरी को जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले की हीरानगर तहसील के रसाना गांव से एक 8 साल की बच्ची अगवा हो गई थी। इस बच्ची के साथ कई दिनों तक रेप किया गया और बाद में उसकी हत्या कर दी गई। गांव के जंगलों में बच्ची की लाश पड़ी मिली थी। क्राइम ब्रांच की चार्जशीट के मुताबिक, बच्ची को अगवा करके गांव के एक धार्मिक स्थल में रखा गया था, जहां उसे बार-बार नशा दिया और कई बार रेप किया गया। बच्ची को अपनी हवस का शिकार बनाने के बाद आरोपियों ने पहले बच्ची का गला घोंटा और बाद में उसके सिर पर पत्थर मार कर उसकी हत्या कर दी।