दैनिक भास्कर हिंदी: स्टरलाइट प्रदर्शन: तूतीकोरिन में फिर भड़की हिंसा, 1 की मौत, मरने वालों की संख्या पहुंची 12 पर

May 23rd, 2018

डिजिटल डेस्क, चेन्नई। तमिलनाडु के तूतीकोरिन में वेदांता स्टरलाइट कॉपर यूनिट को बंद कराने की मांग को लेकर हुए हिंसक प्रदर्शन में मरने वालों की संख्या 12 पर पहुंच गई है। मंगलवार को हुए हिंसक प्रदर्शन के बाद बुधवार को भी ये आन्दोलन जारी रहा। अन्ना नगर इलाके में हिंसा भड़क गई। स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े और गोली चलानी पड़ी। इस दौरान पुलिस की गोली से तीन लोग घायल हो गए। वहीं एक युवक की गोली लगने से मौत हो गई।

 

 

कड़ी सुरक्षा के बाद भी भड़की हिंसा
प्रशासन ने घटनास्थल पर धारा 144 लगा रखी है, जबकि पड़ोसी जिलों से 2000 से ज्यादा पुलिसकर्मी सुरक्षा के लिए भेजे गए हैं। बावजूद इसके बुधवार दोपहर फिर हिंसा भड़क उठी। वहीं मंगलवार को भड़की के बाद गृह मंत्रालय ने तमिलनाडु सरकार से घटना पर रिपोर्ट तलब की है। इस विवाद में फिल्म स्टार से नेता बने रजनीकांत और कमल हासन भी कूद पड़े है। रजनीकांत ने वीडियो मैसेज जारी कर लोगों से शांति की अपील की है। उनकी बेटी सौंदर्या ने भी यह वीडियो मेसेज शेयर किया है। इससे पहले मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच ने वेदांता समूह की कंपनी के विस्तार पर रोक लगा दी।  

 

 

कमल हासन को करना पड़ा गुस्से का सामना
उधर, कमल हासन घायलों का हालचाल लेने अस्पताल पहुंचे। हालांकि उन्हें लोगों के भारी गुस्से और विरोध का सामना करना पड़ा। लोगों ने हासन से कहा कि आप तुरंत यहां से चले जाइए, हम लोगों को आपकी वजह से परेशानी हो रही है। कमल हासन ने कहा, 'हमें यह पता चलना चाहिए कि किसने पुलिसवालों को गोली चलाने का आदेश दिया। यह इंडस्ट्री बंद होनी चाहिए। यहां के लोग भी यही मांग कर रहे हैं।'

RSS की विचारधारा नहीं मानी, इसीलिए मारा
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तमिल भाषा में ट्वीट करते हुए कहा, प्रदर्शनकारियों को इसलिए मारा गया क्योंकि उन्होंने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) की विचारधारा को मानने से इनकार कर दिया था। आरएसएस और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का तमिलनाडु ने विरोध किया है। तमिलनाडु के लोगों को दबाया नहीं जा सकता। वहीं राहुल ने कहा कि तमिल के भाईयों और बहनों हम आपके साथ हैं।

 

 

चिदंबरम वेदांता कंपनी में डायरेक्टर थे
बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा कि स्टरलाइट प्लांट को लेकर पी. चिदंबरम अपना स्टैंड क्लियर करें। स्वामी का दावा है कि पी चिदंबरम वेदांता कंपनी में डायरेक्टर थे। उन्हें अब स्टरलाइट की ओर से बोलना चाहिए। उन्होंने पुलिस फायरिंग की निष्पक्ष जांच की भी मांग की।