दैनिक भास्कर हिंदी: पंजाब: तरनतारन में नगर कीर्तन के दौरान पटाखों से भरी ट्रॉली में धमाका, 2 की मौत विस्फोट, 11 घायल

February 9th, 2020

हाईलाइट

  • आतिशबाजी के लिए ट्रॉली में भरकर पटाखे ले जा रहे थे श्रद्धालु
  • धमाके के बाद मौके पर पहुंची पंजाब पुलिस ने शुरू की जांच

डिजिटल डेस्क, तरनतारन। पंजाब के तरनतारन में शनिवार को धार्मिक जुलूस के दौरान पटाखों से भरी एक ट्रॉली में विस्फोट हो गया। इससे 2 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 11 अन्य लोग घायल हो गए। हादसा शनिवार दोपहर तब हुआ, जब नगर कीर्तन में शामिल श्रद्धालु बाबा दीप सिंह के जन्मस्थान टाहला जा रहे थे। इस कार्यक्रम में आतिशबाजी के लिए ही ट्रॉली में पटाखे रखे गए थे। तरनतारन एसएसपी ने पहले इस घटना में 10 से ज्यादा लोगों की मौत की जानकारी दी थी, लेकिन अब अमृतसर रेंज के आईजी ने सुधार करते हुए 2 लोगों के मारे जाने की बात कही है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हादसे की जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने मृतकों के परिजन को 5 लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है।

धमाका इतना तेज था कि ट्रॉली के परखच्चे उड़ गए
जानकारी अनुसार बाबा दीप सिंह जी के जन्मदिवस के मौके पर गांव पहु विंड से ट्रेक्टर ट्रॉली में सवार होकर श्रद्धालु गुरुद्वारा श्रीटाहला साहिब जा रहे थे। ट्रॉली में भारी मात्रा में पटाखे रखे हुए थे। श्रद्धालु गांव डालेके के पास पहुंचे थे, तभी अचानक पटाखों से भरी ट्रॉली में आग लग गई और धमाका हो गया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि धमाका इतना तेज था कि ट्रॉली के परखच्चे उड़ गए। इस दौरान ट्राली में 18 से 19 साल के 14-15 नौजवान सवार थे। हादसे में दो लोगों की मौत हो गई और 11 लोग घायल हो गए। सभी घायलों को तरनतारन के अस्पताल पहुंचाया गया है।

नगर कीर्तन में शामिल होने दूर-दूर से लोग पहुंचे थे। जैसे ही परिजनों को धमाके की खबर लगी तो घटनास्थल पर पहुंचे। यहां मृतकों और घायलों के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। वहीं लोगों के मुताबिक आवाज इतनी जोरदार थी की दूर-दूर तक सुनाई दी।  

सरिंदरपाल सिंह परमार ने कहा- दो की मौत हुई
अमृतसर बॉर्डर रेंज के आईजी सरिंदरपाल सिंह परमार ने कहा​ कि इस दुर्घटना में 2 लोगों की मौत हुई है और 11 घायल हुए हैं। तरनतारन के एसएसपी ने मृतकों का जो आंकड़ा बताया था, वह प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से दिया गया था। इससे पहले तरनतारन एसएसपी ध्रुव दहिया ने कहा था कि नगर कीर्तन के दौरान आतिशबाजी की जा रही थी। इसी दौरान ट्रैक्टर-ट्रॉली में विस्फोट हो गया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, इसमें 14-15 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। गंभीर रूप से घायल 3 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

 

पाकिस्तान की सीमा से सटा है तरनतारन
पुलिस के सूत्रों ने बताया कि धमाका क्यों हुआ, इसकी जांच जारी है। तरनतारन पाकिस्तान की सीमा से सटा हुआ है, ऐसे में धमाके के पीछे आतंकी घटना की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता। इस आधार पर भी घटना की जांच की जा रही है।

पिछले साल अमृतसर में 2 धार्मिक आयोजनों में हादसे

  1. अक्टूबर 2018 में अमृतसर के धोबीघाट में दशहरा उत्सव देख रहे लोगों को ट्रेन ने रौंद दिया था। इस घटना में 65 लोगों की मौत हुई थी और 70 लोग जख्मी हुए थे।
  2. नवंबर 2018 में अमृतसर के पास निरंकारी भवन पर हमला हुआ था। हमले में 3 लोगों की मौत हुई थी और कई लोग घायल हो गए थे। मामले के तार खालिस्तानी आतंकियों से जुड़े थे। जांच में पता चला था कि दो युवकों ने निरंकारी भवन में विस्फोटक सामग्री फेंकी थी।