दैनिक भास्कर हिंदी: Covid-19: राहुल का वार- भूखे मर रहे गरीब, चावल से बन रहा अमीरों का सैनिटाइजर

April 22nd, 2020

हाईलाइट

  • कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर किया वार
  • कहा- गरीबों के हिस्से के चावल से सरकार बना रही सैनिटाइजर

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोरोना संकट के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र के उस फैसले की आलोचना की है जिसमें सरकार ने चावल से इथेनॉल बनाने को मंजूरी दे दी है। इस इथेनॉल का इस्तेमाल सैनिटाइजर बनाने के लिए किया जा जाएगा। राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा कि, देश के गरीब भूख से मर रहे हैं और सरकार उनके हिस्से के चावल से सैनिटाइजर बनवाना चाहती है।

हिंदुस्तान के गरीब कब जागेंगे?
भंडार में बचे अतिरिक्त चावल का उपयोग सैनिटाइजर बनाने के काम में आने वाला एथनॉल बनाने के लिए किए जाने के सरकार फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए राहुल ने ट्वीट कर कहा, हिंदुस्तान के गरीब कब जागेंगे, आप भूख से मर रहे हैं और आपके हिस्से के चावल से वे अमीरों के लिए सैनिटाइजर बनाने जा रहे हैं।

गरीबों को 20 सितंबर तक मुफ्त राशन देने की मांग
कांग्रेस, सरकार से गरीबों को 20 सितंबर तक मुफ्त राशन देने की मांग कर रही है। सोनिया गांधी ने भी प्रधानमंत्री को इस आशय का पत्र लिखा है। राहुल गांधी ने सरकार से उन विस्थापितों व गरीबों के लिए इमर्जेसी राशन कार्ड जारी करने का अनुरोध भी किया है, जिन्हें जन वितरण प्रणाली (पीडीएस) के जरिए राशन नहीं मिलता है।

पाकिस्तान: 'टांगे भी ढक कर रखें, नहीं तो नीचे से घुस सकता है कोरोना वायरस', देखें वीडियो