दैनिक भास्कर हिंदी: ‘वन नेशन, वन इलेक्शन’ के समर्थन में रजनीकांत, कहा- समय और पैसे की बचत होगी

July 15th, 2018

हाईलाइट

  • 'वन नेशन, वन इलेक्शन' का रजनीकांत ने सपोर्ट किया।
  • रजनीकांत ने कहा 'वन नेशन, वन इलेक्शन' से पैसे और समय दोनों की बचत होगी।


डिजिटल डेस्क, चेन्नई। देश में 'वन नेशन, वन इलेक्शन' पर मोदी सरकार के इस फॉर्मूले को अभिनेता से नेता बने रनजीकांत का भी साथ मिल गया है। रजनीकांत ने 'वन नेशन, वन इलेक्शन' मुहिम का समर्थन किया है। उन्होंने कहा इससे पैसे और समय दोनों की बचत होगी।

 

 

दरअसल देश में एक साथ लोकसभा और विधानसभा चुनाव कराने को लेकर बहस छिड़ी हुई है। इसी बीच रविवार को एक कार्यक्रम के दौरान रजनीकांत ने कहा 'वन नेशन, वन इलेक्शन' काफी बढ़िया और अच्छा कॉन्सेप्ट है। इससे समय और पैसे दोनो की बचत होगी। उन्होंने यह अपील भी की है कि सरकार की इस मुहिम पर सभी दलों को साथ मिलकर काम करना चाहिए और सहयोग करना चाहिए।

 

पहले ही मिल चुका है DMK और TRS का साथ

इसके अलावा रजनीकांत ने विकास को लेकर कहा, चेन्नई-सलेम आठ लेन एक्सप्रेस-वे जैसी परियोजनाएं देश के विकास के लिए आवश्यक हैं। उन्होंने कहा अन्य राज्यों की तुलना में तमिलनाडु का एजुकेशन सिस्टम काफी बेहतर है।  इससे पहले देश में एक साथ चुनाव करवाने के आइडिया को समाजवादी पार्टी, जेडीयू और तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) का साथ मिल चुका है। वहीं DMK ने इस अवधारणा को संविधान के बुनियादी सिद्धांतों के खिलाफ बताया है। 

 

केंद्रीय कानून आयोग की बैठक में ली गई थी राय

कुछ दिन पहले केंद्रीय कानून आयोग ने दो दिन की बैठक आयोजित की थी। इसमें सभी राष्ट्रीय और राज्यों की मान्यता प्राप्त पार्टियों के प्रतिनिधियों को बुलाया गया था। इसमें 'वन नेशन, वन इलेक्शन' पर उनकी क्या राय के बारे में पूछा गया था। केंद्रीय कानून आयोग में सपा का की तरफ से रामगोपाल यादव ने कहा था, समाजवादी पार्टी एक साथ चुनाव करवाने के पक्ष में है। यह 2019 से ही शुरू होना चाहिए। साथ ही ये भी कहा गया था, अगर राजनेता पार्टी बदलता है या हॉर्स ट्रेडिंग में संलिप्त पाया जाता है तो राज्यपाल को उन पर एक हफ्ते के अंदर कार्रवाई करने का अधिकार होना चाहिए। 

 

TRS के चेयरमैन ने पत्र लिखकर किया था समर्थन

वहीं TRS के चेयरमैन के. चंद्रशेखर राव ने केंद्रीय कानून आयोग को पत्र लिखकर 'वन नेशन, वन इलेक्शन' का समर्थन किया था। 'एक राष्ट्र एक चुनाव' पर आंध्र प्रदेश की टीडीपी पार्टी ने कहा था 2019 में अगर चुनाव अपने तय समय पर होते हैं तो उन्हें इससे कोई परेशानी नहीं है। 
 


पीएम मोदी भी कर चुके हैं अपील  

गौरतलब है कि 'वन नेशन, वन इलेक्शन' की अवधारणा पर मोदी सरकार काफी प्रतिबद्ध नजर आ रही है। मोदी सरकार चाहती है कि देश में एक बार ही विधानसभा और लोकसभा के चुनाव हों। इसके लिए पीएम मोदी खुद कई बार लोगों से और राजनीतिक दलों से अपील भी कर चुके हैं।