comScore

राजीव कुमार का तबादला, अनुज शर्मा कोलकाता के नए पुलिस कमीश्नर

February 19th, 2019 22:44 IST
राजीव कुमार का तबादला, अनुज शर्मा कोलकाता के नए पुलिस कमीश्नर

हाईलाइट

  • कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार का तबादला कर दिया गया है।
  • उनकी जगह अनुज शर्मा को नया कमिश्नर बनाया गया है।
  • राजीव कुमार को CID का ADG और IGP बनाया गया है।

डिजिटल डेस्क, कोलकाता। CBI बनाम कोलकाता पुलिस विवाद के बाद अब कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार का तबादला कर दिया गया है। उनकी जगह अनुज शर्मा को नया कमिश्नर बनाया गया है। वहीं राजीव कुमार को CID का एडिशनल डायरेक्टर जनरल (ADG) और इसंपेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (IGP) बनाया गया है। राजीव कुमार का तबादला CBI द्वारा शिलॉन्ग में शारदा चिटफंड और रोज वैली घोटाले की पुछताछ के बाद किया गया है। राजीव कुमार पिछले तीन साल से कोलकता पुलिस कमिश्नर के पद पर थे। 

राजीव कुमार के तबादले की घोषणा सोमवार को ही की जानी थी। हालांकि उनकी जगह किसी नए कमीश्नर का निर्णय नहीं लिया गया था, जिसकी वजह से इसे एक दिन आगे बढ़ाना पड़ा। मंगलवार को अनुज शर्मा के कमीश्नर नियुक्त किए जाने के साथ ही राजीव कुमार का तबादला कर दिया गया। अनुज शर्मा लखनऊ यूनिवर्सिटी से इकोनॉमिक्स में पोस्ट ग्रजुएशट हैं और 1991 बैच के IPS ऑफिसर हैं। इससे पहले वे पश्चिम बंगाल के एडिशनल डायरेक्टर जनरल (लॉ एंड ऑर्डर) थे। बताया जाता है कि पिछले साल दार्जलिंग में हुए गोरखा आंदोलन को शांत करवाने में उनकी अहम भूमिका थी। 

बता दें कि CBI बनाम कोलकाता पुलिस विवाद ने काफी तूल पकड़ा था। कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर पूछताछ के लिए पहुंची CBI की टीम को कोलकाता पुलिस ने रविवार को हिरासत में ले लिया था। जिसके बाद CBI और कोलकाता पुलिस के बीच विवाद शुरू हो गया था। मामला यहां तक पहुंच गया कि CBI को सुप्रीम कोर्ट जाना पड़ा। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने राजीव कुमार को जांच में सहयोग करने का आदेश दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने राजीव कुमार को सीबीआई के सामने शिलांग में पेश होने का आदेश दिया था। पुछताछ में सहयोग के लिए राजीव कुमार शिलांग भी गए थे। राजीव कुमार का ट्रांसफर उनके शिलांग से लौटने के ठिक बाद किया गया। 

राजीव कुमार पर क्या है आरोप
शारदा घोटाले में बंगाल सरकार ने जिस SIT की टीम गठित की थी, राजीव कुमार लीड कर रहे थे। ऐसा कहा गया था कि जांच के दौरान काफी घोटाले हुए। राजीव कुमार पर कथित तौर पर यह आरोप लगे थे कि कुछ बड़े लोगों को बचाने के लिए जरूरी दस्तावेज के साथ छेड़छाड़ की थी और सबूत को मिटा दिया था। इस मामले को लेकर CBI राजीव कुमार से पूछताछ करना चाहती है। इसको लेकर CBI ने अभी तक 80 चार्जशीट फाइल की है। इस केस में पूर्व फाइनेंस मिनिस्टर पी चिदंबरम की पत्नी नलिनी चिंदबरम पर भी आरोप लगे थे। नलिनी पर आरोप था कि उन्होंने शारदा ग्रुप से 1.4 करोड़ रुपए मिले थे।


 

कमेंट करें
RMcG5