दैनिक भास्कर हिंदी: मां तुझे सलाम: लॉकडाउन में फंसे बेटे को घर लाने महिला ने स्कूटी से किया 1400 किमी सफर

April 10th, 2020

हाईलाइट

  • महिला सोमवार को घर से निकली और बुधवार को बेटे को वापस लेकर आई
  • डर लगा, लेकिन हिम्मत नहीं हारी- रजिया बेगम

डिजिटल डेस्क, हैदराबाद। देश में 21 दिनों का लॉकडाउन है। इस वजह से हजारों लोग अपने-अपने घर पहुंचने का इंतजार कर रहे हैं। अब ऐसा ही एक मामला तेलंगाना से सामने आया है। यहां एक महिला ने अपने बेटे को घर लाने के लिए स्कूटी से 1400 किमी का सफर किया। महिला निजामाबाद से आंध्रप्रदेश के नेल्लोर के लिए सोमवार को निकली और बुधवार को बेटे को लेकर घर लौट आई।

48 वर्षीय रजिया बेगम ने बताया कि मेरे दो बेटे है। पति की 15 साल पहले मौत हो गई। बड़ा बेटा ग्रेजुएट और छोटा बेटा पढ़ाई कर रहा है। वह नेल्लोर में था। उन्होंने कहा कि मेरे लिए सफर करना आसान नहीं था,लेकिन बेटे को घर लाने की इच्छा ने मुझे शक्ति दी। रजिया ने बताया कि रात में कोई ट्रैफिक नहीं था, सड़कें खाली थी। इससे खाफी डर लगा, लेकिन हिम्मत नहीं हारी। 

चेतावनी: ICMR की नई रिपोर्ट, देश में शुरू हो गया CORONA का तीसरा स्टेज !

उन्होंने बताया कि मेरा बेटा निजामुद्दीन 12 मार्च को अपने दोस्तों को छोड़ने नेल्लोर गया था। इस बीच देश में लॉकडाउन लागू हो गया और वह फंस गया। रजिया बेगम ने कहा, मैंने अपनी स्थिति प्रशासन और एसीपी को बताई। इसके बाद उन्होंने मुझे अनुमति दे दी।