comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

मेजर कुलदीप के नेतृत्व में हुई लोंगेवाला की लड़ाई को याद कर बोले पीएम- पाकिस्तान को लेने के देने पड़े

November 14th, 2020 13:00 IST
 मेजर कुलदीप के नेतृत्व में हुई लोंगेवाला की लड़ाई को याद कर बोले पीएम- पाकिस्तान को लेने के देने पड़े

हाईलाइट

  • मेजर कुलदीप के नेतृत्व में हुई लोंगेवाला की लड़ाई को याद कर बोले पीएम- पाकिस्तान को लेने के देने पड़े

नई दिल्ली, 14 नवंबर (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री मोदी शनिवार को जैसलमेर की लोंगेवाला सीमा पर जवानों के साथ दीवाली मनाने पहुंचे तो उन्होंने इस स्थान पर मेजर कुलदीप सिंह चांदपुरी के नेतृत्व में 1971 में लड़ी गई ऐतिहासिक लड़ाई को याद किया।

यह मेजर कुलदीप सिंह चांदपुरी ही थे, जिनके साहस पर बनी बॉर्डर फिल्म में सनी देओल ने उनकी भूमिका निभाई थी।

प्रधानमंत्री मोदी ने बैटल ऑफ लोगेंवाला को भारतीय सैन्य बल के साहस और शक्ति का प्रतीक बताया। उन्होंने कहा कि लोंगवाला का युद्ध, भारतीय सेना, बीएसएफ, वायुसेना के अद्भुत समन्वय का भी प्रतीक है।

प्रधानमंत्री मोदी ने इस बार दीवाली मनाने के लिए लोंगेवाला सीमा पर पहुंचने के पीछे का रहस्य भी खोलते हुए कहा कि वर्ष 1971 के युद्ध में 50 वर्ष होने जा रहे हैं, उस गौरवपूर्ण ²श्य को मनाने की तैयारी है। इसलिए उनका यहां आने को मन कर गया। पूरा देश अपने उन वीरों की विजयगाथाएं सुनकर गौरवान्वित होगा

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जब भी सैन्य कुशलता के इतिहास के बारे में लिखा-पढ़ा जाएगा, जब सैन्य पराक्रम की चर्चा होगी, तो बैटल ऑफ लोंगेवाला को जरूर याद किया जाएगा। यह वो समय था, जब पाकिस्तान की सेना, बांग्लादेश के निर्दोष नागरिकों का नरसिंहार कर रही थी। बहन-बेटियों पर अमानवीय जुल्म हो रहे थे। इन हरकतों से पाकिस्तान का घृणित चेहरा उजागर हो रहा था। पाकिस्तान का भयंकर रूप दुनिया के सामने प्रकट हो रहा था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इन सब से दुनिया का ध्यान हटाने के लिए पाकिस्तान ने हमारे देश की पश्चिमी सीमाओं पर मोर्चा खोल दिया। पाकिस्तान को लगा कि पश्चिमी सीमाओं पर मोर्चा खोल देने से बांग्लादेश को लेकर किए जाने वाले पाप छिप जाएंगे। लेकिन भारतीय सैनिकों ने जो मुंहतोड़ जवाब दिया, उससे पाकिस्तान को लेने के देने पड़ गए।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, यहां इस पोस्ट पर दिखाए गए पराक्रम की गूंज ने दुश्मन का हौसला तोड़ दिया। उस वक्त क्या पता था कि यहां उसका सामना मां भारती के शक्तिशाली बेटे-बेटियों से हो रहा है। मेजर कुलदीप सिंह चांदपुरी के नेतृत्व में भारतीय वीरों ने टैंकों से लैस दुश्मन के सैनिकों को धूल चटा दी थी। उनके मंसूबों को नेस्तनाबूद कर दिया।

प्रधानमंत्री मोदी ने मेजर कुलदीप की बहादुरी को नमन करते हुए कहा कि उनके माता-पिता ने नाम रखते हुए कुल के दीपक के बारे में सोचा होगा। लेकिन उन्होंने नाम को ऐसे सार्थक किया कि कुलदीप नहीं राष्ट्रदीप हो गए।

प्रधानंमत्री मोदी ने कहा, साथियो लोंगेवाला का ऐतिहासिक युद्ध भारतीय सैन्य बल का प्रतीक तो है ही, भारतीय सेना, बीएसएफ, वायुसेना के अद्भुत समन्वय का भी प्रतीक है। इस लड़ाई ने दिखाया है कि भारत की संगठित सैन्य शक्ति के सामने चाहे कोई भी आ जाए, वह टिक नहीं पाएगा।

एनएनएम/जेएनएस

कमेंट करें
FjSPC
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।