दैनिक भास्कर हिंदी: राजद को मजदूरों की पीड़ा पर राजनीति करने की सजा मिली : सुमो

June 23rd, 2020

हाईलाइट

  • राजद को मजदूरों की पीड़ा पर राजनीति करने की सजा मिली : सुमो

पटना, 23 जून (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के पांच विधान पार्षदों के पार्टी छोड़ने को लेकर बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने लालू प्रसाद की पार्टी पर कटाक्ष किया है। उन्होंने कहा कि राजद को मजदूरों की पीड़ा पर राजनीति करने की सजा मिली है।

मोदी ने मंगलवार को ट्वीट कर लिखा, लालू प्रसाद की पार्टी ने कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन जैसी विषम परिस्थितियों में भी जिस निर्लज्जता के साथ सरकार के राहत कार्यो की सिर्फ आलोचना की, उस अंधी नकारात्मकता का फल है कि पार्टी के पांच विधान परिषद सदस्यों ने राजद से नाता तोड़ लिया।

उन्होंने आगे कहा कि अब राबड़ी देवी को सदन में विरोधी दल के नेता पद से हाथ धोना पड़ेगा। मोदी ने लिखा, उन्हें गरीबों-मजदूरों की पीड़ा पर राजनीति करने और विकास में अडं़गेबाजी करने की सजा मिलना तय है।

भाजपा नेता मोदी ने राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफे पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, लालू प्रसाद ने अपने अच्छे-बुरे हर दौर के साथी रघुवंश प्रसाद सिंह की सलाह न मानकर ऊंची जातियों को 10 फीसद आरक्षण देने के राजग सरकार के फैसले का विरोध जारी रखा और पुत्र मोह में उनकी लगातार उपेक्षा भी करते रहे।

मोदी ने ट्वीट कर लिखा, एम्स में अपने बिस्तर से पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद से उनका इस्तीफा भेजना जाहिर करता है कि राजद को परिवारवाद किस हद तक निगल चुका है। लोकसभा चुनाव में जीरो पर आउट होने वाली पार्टी से एक साथ पांच माननीय सदस्यों का मोहभंग और वरिष्ठ पदाधिकारी का इस्तीफा देना तेजस्वी यादव के नेतृत्व को दूसरा बड़ा झटका है।

उल्लेखनीय है कि मंगलवार को राजद के विधान पार्षद ने पार्टी छोड़ दी, वहीं रघुवंश प्रसाद सिंह ने उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया।