दैनिक भास्कर हिंदी: संपर्क के लिए गए थे बीजेपी नेता, इमाम ने सुनाई खरी-खोटी

June 9th, 2018

हाईलाइट

  • केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने भी जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना सैयद अहमद बुखारी से मुलाकात की।
  • मुलाकात के बाद शाही इमाम ने मीडिया के सामने बीजेपी नेताओं को खरी-खोटी सुना दी।
  • बुखारी ने कहा कि मुस्लिम समुदाय को निशाना बनाया जा रहा है और उनके साथ बुरा बर्ताव भी किया जा रहा है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केंद्र में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह समेत वरिष्ठ नेता इन दिनों 'संपर्क फॉर समर्थन' अभियान पर हैं। इसी अभियान के तहत केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने भी जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना सैयद अहमद बुखारी से दिल्ली में मुलाकात की। मुलाकात के दौरान दोनों ही पक्ष की ओर से काफी सोहार्दपूर्ण माहौल में बातचीत हुई, लेकिन मुलाकात के बाद शाही इमाम ने मीडिया के सामने बीजेपी नेताओं को खरी-खोटी सुना दी।

मौलाना सैयद अहमद बुखारी ने मीडिया से बातचीत में बीजेपी नेताओं से नाराजगी जताते हुए कहा कि वे हमसे समर्थन लेने तो आए, मगर उन्हें ये भी याद रखना चाहिए कि आज देशभर में मुस्लिम सुमदाय पर हमला बोला जा रहा है। मुस्लिम समुदाय को निशाना बनाया जा रहा है और उनके साथ बुरा बर्ताव भी किया जा रहा है।

शाही इमाम ने विजय गोयल के सामने मौजूदा सरकार पर सवाल खड़े किए और कहा कि भाजपा का रिकॉर्ड सवालों के घेरे में है। बाद में उन्होंने मीडिया से कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक तरफ जहां एक हाथ में कुरान और दूसरे हाथ में कंम्प्यूटर की बात करते हैं तो वहीं दूसरी तरफ लिंचिंग की घटनाएं भी हो रही हैं। शाही इमाम ने कहा कि भाजपा नेता हमसे मिलने तो आते हैं, लेकिन मुस्लिम समाज को निशाना बनाया जा रहा है। उन्होने कहा कि मुस्लिम समुदाय को लेकर सरकार से हमारी कई शिकायतें हैं। लोकसभा चुनाव में अब सिर्फ एक साल है। उम्मीद है कि वे इस संबंध में कुछ करेंगे।

इमाम अहमद बुखारी ने कहा, 'वे हमारे पास आए, लेकिन मुसलमानों को निशाना बनाया जा रहा है और उनके साथ बुरा बर्ताव हो रहा है। चुनाव में सिर्फ एक साल का वक्त है, अगर वे कुछ करते हैं, तो इसका स्वागत है, लेकिन हमारी कई शिकायतें हैं।'

 

 


बता दें कि शनिवार को ही यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने संजय दत्त से मुलाकात की थी। संजय अपनी फिल्म 'प्रस्थानम' की शूटिंग के सिलसिले में लखनऊ में हैं। उधर, केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को बॉलीवुड ऐक्टर सलमान खान और उनके पिता गीतकार सलीम खान से मुलाकात की है।

इसी क्रम में केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने भी शुक्रवार 8 जून को ईसाई धर्मगुरू बिशप वारिस मसीह से मुलाकात की थी। 'इंडिया इस्लामिक कल्चरल सेंटर' के अध्यक्ष सिराजुद्दीन कुरैशी और मुस्लिम समाज के कुछ अन्य प्रमुख लोगों से मुलाकात के बाद नकवी ने कहा, 'मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार द्वारा पिछले 4 वर्षों में ‘समावेशी-सर्वस्पर्शी विकास’ के लिए किए गए कामों के बारे में जानकारी दी।' मुख्तार अब्बास शनिवार को शैक्षणिक एवं सामाजिक क्षेत्र में काम करने वाले मुस्लिम समाज के कुछ प्रमुख लोगों से भी मिले और कहा कि सहिष्णुता भारत के डीएनए में है।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव 2019 से पहले बीजेपी के 'संपर्क फॉर समर्थन' अभियान की शुरुआत बीजेपी अध्‍यक्ष अम‍ित शाह ने मुंबई से की थी। अम‍ित शाह इसके तहत उद्योगपति रतन टाटा, योग गुरु रामदेव, पूर्व क्रिकेटर कपिल देव और बॉलिवुड ऐक्ट्रेस माधुरी दीक्ष‍ित से मिले थे। इस अभियान के तहत बीजेपी के सीनियर नेता अलग-अलग फील्ड के नामी लोगों से मिल चुके हैं।