दैनिक भास्कर हिंदी: कांग्रेस बेचैनी महसूस कर रही है, क्योंकि राफेल सौदे से पैसा नहीं कमा पा रही : सीतारमण

September 29th, 2018

हाईलाइट

  • रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस पर दलालों के साथ रक्षा मंत्रालय चलाने का आरोप लगाया।
  • उन्होंने कहा कि पार्टी अब बेचैनी महसूस कर रही है क्योंकि वे राफेल सौदे में पैसा नहीं कमा पा रही हैं।
  • वर्तमान सरकार ने यह दिखा दिया है कि कैसे दलालों के बिना रक्षा मंत्रालय को चलाया जाता है।

डिजिटल डेस्क, चेन्नई। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक पाकिस्तान को भारत का जवाब था। उन्होंने साफ कहा कि भले ही पाकिस्तान ने इससे सबक सीखा हो या नहीं, सीमा पर हमारी कार्रवाई जारी रहेगी। वहीं उन्होंने कांग्रेस पर दलालों के साथ रक्षा मंत्रालय चलाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पार्टी अब बेचैनी महसूस कर रही है, क्योंकि वे राफेल सौदे में पैसा नहीं कमा पा रही हैं। वर्तमान सरकार ने यह दिखा दिया है कि कैसे दलालों के बिना रक्षा मंत्रालय को चलाया जाता है। रक्षा मंत्री का ये बयान सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगाठ पर प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आया है। उन्होंने राफेल डील, घुसपैठ और रूस के साथ रक्षा सहयोग को लेकर भी पत्रकारों के सवालों के जवाब दिए।

राफेल डील को लेकर सीतारमण ने कहा, 'मैं संसद में 4 बार साफ कर चुकी हूं, मैंने इस सवाल का चार बार जवाब दिया है। मैंने लिखित में भी जवाब दिए हैं। फैक्ट्स वही हैं पर क्या आप उन जवाबों को स्वीकार कर रहे हैं?'

रूस से हथियार खरीदारी को लेकर रक्षा मंत्री ने कहा कि S-400 एयर डिफेंस सिस्टम्स पर लंबे समय से बातचीत चल रही है और अब यह ऐसे स्टेज में पहुंच चुकी है, जहां इसे फाइनल किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि रूस से हथियार उपकरण खरीदना हमारी विरासत रही है।

सर्जिकल स्ट्राइक के कथित राजनीतिकरण के बारे में पूछे जाने पर, सीतारमण ने कहा, "सर्जिकल स्ट्राइक हुई क्योंकि सीमा पार से घुसपैठिए दाखिल होकर आतंकी हमलों को अंजाम दे रहे थे। हमने उन्हें खत्म करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने आतंकियों के मिलिट्री बेस में घुसकर हमला करने को दुर्भाग्यपूर्ण घटना बताया।

बढ़ती घुसपैठ के सवाल के जवाब में रक्षा मंत्री ने कहा, "सीमा पार से घुसपैठ हो रही हैं और हम सीमा पर ही उसे खत्म कर रहे हैं। सीतारमण ने कहा इस तरह की कार्रवाई से पाकिस्तान ने सबक सीखा हो या नहीं। सीमा पर हमारी कार्रवाई जारी रहेगी।

सीतारमण ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के उस बयान पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया जिसमें उन्होंने कहा था कि "सीमा पार पिछले दो-तीन दिनों में सैनिक की क्रूर हत्या का बदला लेने के लिए कुछ बड़ा हुआ है"।