दैनिक भास्कर हिंदी: स्मॉग इफैक्ट : ट्रेनों की आवाजाही पर असर, 64 ट्रेनें हुईं लेट

November 11th, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। उत्तर भारत और राजधानी समेत देशभर में कड़ाके की ठंड ने दस्तक दे दी है, तो वहीं स्मॉग का कहर अभी भी जारी है। आज दिल्ली के कई इलाकों में स्मॉग का असर कम देखा गया है। बता दें कि स्मॉग के कारण शुक्रवार को रेल सेवा पूरी तरह प्रभावित रही। शनिवार सुबह दिल्ली आने वाली 64 ट्रेनें देरी से चल रही हैं, 14 के समय में बदलाव किया गया है, जबकि 2 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है।

स्मॉग से थोड़ी राहत 

दिल्ली के अलग-अलग इलाकों की बात करें तो यहां पिछले सप्ताह की तुलना में स्मॉग का असर कम देखने को मिला। स्थानीय लोगों ने कहा है कि यहां स्थिति पिछले सप्ताह की तुलना में काफी अच्छी है, लेकिन हमें स्मॉग का लंबा तोड़ ढूंढना पड़ेगा। बता दें कि पिछले 4-5 दिन से राजधानी दिल्ली में प्रदूषण का स्तर खतरनाक स्तर से ऊपर है और लगातार सरकार, प्रशासन के साथ आम जनता के लिए मुसीबत का सबब बना हुआ है। शनिवार सुबह दिल्ली के मंदिर मार्ग इलाके में प्रदूषण का स्तर (एक्यूआई) 326, आनंद विहार में 430, सिरी फोर्ट में 316, द्वारका में 327 और शादीपुर में 331 दर्ज किया गया है। राजपथ पर लोगों ने बताया कि स्थिति बीते हफ्ते के मुकाबले अब काफी बेहतर है।

 

ट्रेनों की आवाजाही पर लगातार असर

प्रदूषण और धुंध के चलते रेल यातायात पर प्रभाव पड़ा है। इससे पहले 9 नवंबर (गुरुवार) को भी ट्रेनों के समय में बदलाव किया गया था। बीते गुरुवार प्रदूषण (स्मॉग) और धुंध के कारण करीब 40 ट्रेनों के परिचालन में देरी हुई थी, जबकि नौ ट्रेनों के समय में बदलाव किया गया था, वहीं 10 को रद्द करना पड़ा था।

एनजीटी ने ऑड ईवन को दी हरी झंडी

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने ऑड ईवन फॉर्मूले को हरी झंडी दे दी है और ये फैसला सोमवार से लागू होगा। गौरतलब है कि दिल्ली सरकार ने राजधानी में बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए 13 से 17 नवंबर तक ऑड-ईवन फॉर्मूला लागू करने का फैसला लिया है। वहीं इस फैसले पर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल लगातार सवाल खड़े कर रहा था। एनजीटी ने शुक्रवार को ऑड-ईवन फॉर्मूले के प्रभावों को जाने बिना राजधानी में लागू करने की इजाजत नहीं दी थी।