comScore

कोरोना वायरस का असर: सुप्रीम कोर्ट में पहली बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से होगी सुनवाई

कोरोना वायरस का असर: सुप्रीम कोर्ट में पहली बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से होगी सुनवाई

हाईलाइट

  • SC बेहद जरूरी मामलों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये करेगा सुनवाई
  • दिल्ली हाईकोर्ट में वकीलों के चैंबर 31 मार्च तक के लिए बंद किए गए

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश की सर्वोच्च अदालत की कार्यवाही पर भी कोरोना वायरस (Coronavirus) का असर पड़ा है। जिसके कारण सुप्रीम कोर्ट ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए महत्वपूर्ण मामलों की सुनवाई करने का फैसला लिया है। सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में पहली बार ऐसा हो रहा है जब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई होगी। इसके लिए तैयारियां भी पूरी कर ली गई हैं। 

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कहा, कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए कोर्ट परिसर में सभी वकीलों के चेंबर अगले आदेश तक बंद रहेंगे। कोर्ट में व्यक्तिगत पेशी पर भी अगले आदेश तक रोक लगाई गई है। सिर्फ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जरूरी मामलों की सुनवाई की जाएगी।

जेलों में भीड़ कम करने को लेकर भी सुप्रीम कोर्ट ने प्रत्येक राज्य सरकार को निर्देश दिया है कि, वह एक उच्च शक्ति समिति का गठन करें जिसमें कानून सचिव और राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष यह निर्धारित करें कि किस श्रेणी के दोषियों या अपराधियों को पैरोल या अंतरिम जमानत पर रिहा किया जा सकता है।

दिल्ली हाईकोर्ट में सभी वकीलों के चैंबर को कोरोनावायरस के प्रकोप के मद्देनजर सोमवार शाम से 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है।

वहीं कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने के लिए केरल उच्च न्यायालय 8 अप्रैल तक बंद रहेगा। हालांकि, कोर्ट प्रत्येक मंगलवार और शुक्रवार को खुला रहेगा, ताकि जरूरी मामलों की याचिकाएं दायर की जा सकें। देश में महाराष्ट्र के बाद केरल में कोरोनावायरस संक्रमण के मामले सबसे ज्यादा दर्ज किए गए हैं।

Video: कोरोना वायरस का खौफ, पैसेंजर के छींकते ही खिड़की से कूद कर भागा पायलट

कमेंट करें
WeNqY