दैनिक भास्कर हिंदी: सुषमा स्वराज ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में की बड़ी चूक, ट्विटर पर मांगी माफी

May 29th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को अपनी ही एक टिप्पणी को लेकर माफी मांगनी पड़ गई। दरअसल सुषमा स्वराज ने अपनी उस टिप्पणी को लेकर माफी मांगी है जिसमें उन्होंने गलती से कह दिया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेपाल के जनकपुर के दौरे पर लाखों भारतीयों को संबोधित किया। उनकी इसी टिप्पणी पर नेपाल के एक सांसद और ट्विटर यूजर्स ने उन्हें गलती का अहसास कराया। 

 

जैसे ही सुषमा को अपनी गलती के बारे में पता चला उन्होंने तत्काल इसे स्वीकार किया और अपनी गलती के लिए माफी भी मांगी। यूजर्स ने सुषमा को ध्यान दिलाया कि जनकपुर में पीएम मोदी ने नेपाली लोगों को संबोधित किया था न कि भारतीयों को। सुषमा ने अपनी गलती को माना और ट्वीट किया, 'यह मेरी तरफ से हुई गलती थी। मैं पूरी गंभीरता से इसके लिए माफी मांगती हूं।'

 

 


सुषमा स्वराज ने एनडीए सरकार की चौथी वर्षगांठ के मौके पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि "पीएम नरेंद्र मोदी से पहले किसी भी प्रधानमंत्री ने इतने बड़े स्तर पर भारतीय प्रवासियों तक पहुंचने का प्रयास नहीं किया।" विदेश मंत्री सुषमा स्वराज सरकार को सरकार में उन मंत्रियों में शामिल किया जाता हैं जो सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय हैं। 

 

नेपाली कांग्रेस के नेता और सांसद गगन थापा ने भी ट्वीट कर कहा है कि भले ही विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अपनी टिप्पणी को लेकर खेद व्यक्त किया है, लेकिन हर कोई इससे हैरान है। क्या गलती से 'नेपाल की संप्रभुता' में दखल था? गगन थापा ने कहा कि हमें यह बिल्कुल स्वीकार्य नहीं है।  
 

 

हाल ही में पीएम मोदी गए नेपाल गए थे, वहां उन्होंने पशुपति नाथ मंदिर में पूजा की और मुक्तिनाथ धाम भी गए। वह मां सीता की जन्मस्थली जनकपुर भी गए और जनकपुर से अयोध्या के लिए शुरू की गई बस सेवा का उद्घाटन भी किया। इस धार्मिक और ऐतिहासिक शहर में पीएम के सम्मान में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। पीएम मोदी ने इस दौरान जनकपुर के लोगों को संबोधित करते हुए कहा था कि भारत-नेपाल का रिस्ता युगों पुराना है। दोनों देशों की दोस्ती किसी रणनीति या कूटनीति की मोहताज नहीं है। नेपाल के बिना भारत के धाम भी अधूरे हैं और राम भी।