दैनिक भास्कर हिंदी: टीचर्स को मिलेगी ऑनलाइन सर्टिफिकेशन ट्रेनिंग

September 6th, 2020

हाईलाइट

  • टीचर्स को मिलेगी ऑनलाइन सर्टिफिकेशन ट्रेनिंग

नई दिल्ली, 5 सितम्बर (आईएएनएस)। देशभर में नई शिक्षा नीति को सुगमता से कार्यान्वित करने के लिए लाखों शिक्षकों को आधुनिक ढंग से ट्रेनिंग दी जाएगी। यह ट्रेनिंग टीचर्स सर्टिफिकेशन प्रोग्राम के तहत दी जाएगी। 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के अवसर पर शिक्षा से जुड़ी संस्था, लीड टीचर्स अकैडमी ने यह घोषणा की है। इसके तहत सर्टिफिकेशन ट्रेनिंग सभी शिक्षकों के लिए पूरी तरह से निशुल्क होगी।

इस निशुल्क प्रोग्राम कार्यक्रम में देशभर के 25 लाख से ज्यादा शिक्षक शामिल हो सकते हैं। सर्टिफिकेशन प्रोग्राम में शिक्षकों को तीन भागों के अलग-अलग बैच में प्रशिक्षण दिया जाएगा। इससे शिक्षकों को उनके सिखाने के कौशल में सुधार करने में मदद मिलेगी, सिखाने की सबसे अच्छी कार्य पद्धति की जानकारी मिलेगी और अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रोत्साहन मिलेगा।

कोरोना लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन शिक्षा में आई चुनौतियों और शिक्षकों की मदद के लिए यह अकैडमी विकसित की गई। इसमें प्रशिक्षण के तीन मुद्दों पर ध्यान केंद्रित किया जाता है, ध्येय और विकास की दिशा में आगे बढ़ने की मानसिकता, ऑनलाइन वातावरण में सिखाने के लिए जरुरी कौशल और मानसिक, सामाजिक समर्थन।

ध्येय और विकास की दिशा में आगे बढ़ने की मानसिकता विकसित करने के लिए शिक्षकों को ऑनलाइन ट्रेनिंग में प्रगतिशील दृष्टिकोण अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा, ताकि उन्हें उनकी सर्वोत्तम क्षमताएं उपयोग में लाने में मदद मिल सके। ऑनलाइन वातावरण में सिखाने के लिए जरुरी कौशल की जानकारी शिक्षकों को दी जाएगी। वर्चुअल क्लासेस में आने वाला तनाव दूर करने में मदद हो इसलिए छात्रों के साथ को किस तरह से कनेक्ट किया जाए , यह प्रशिक्षण भी शिक्षकों को दिया जाएगा।

प्रशिक्षण में सफल होने वाले शिक्षकों को प्रमाणपत्र दिया जाएगा, जो उनके सीखे गए नए कौशल को दर्शाएगा और शिक्षा क्षेत्र में उनके मूल्य को बढ़ाएगा।

लीड स्कूल के सह-संस्थापक और सीईओ सुमीत मेहता ने कहा, भारत की शिक्षा प्रणाली में एक अच्छा परिवर्तन हो रहा है, जिसका उद्देश्य हमारे शिक्षकों के सर्वोत्तम कौशल उपयोग में लाना है। हमें पूरा विश्वास है कि इस पहल से शिक्षकों को उनकी सिखाने की क्षमताओं में सुधार करने में मदद मिलेगी और छात्रों की पढ़ाई के बेहतर परिणाम दिखाई देंगे। इस प्रयोग के माध्यम से शिक्षक नई शिक्षा नीति को लागू करने में और अधिक सक्षम हो सकेंगे।

स्कूल में शिक्षा और सीखने की एकल प्रणाली में प्रौद्योगिकी, पाठ्यक्रम और शिक्षा को एकीकृत किया गया है, ताकि देश भर के विद्यालयों में छात्रों के सीखने और शिक्षकों के अध्यापन के प्रदर्शन में सुधार आए। देशभर के 20 विभिन्न राज्यों में द्वितीय से चतुर्थ श्रेणी के 370 से अधिक शहरों में 800 से ज्यादा सरकारी एवं निजी विद्यालयों के साथ लीड स्कूल ने साझेदारी की है।

 

जीसीबी/एएनएम