दैनिक भास्कर हिंदी: कश्मीर: बांदीपोरा में सेना कैंप पर आतंकी ने किया ग्रेनेड हमला, 2 जवान घायल

June 6th, 2018

हाईलाइट

  • जम्मू कश्मीर के बांदीपुरा जिले में एक बार फिर से आतंकियों ने हमला किया है।
  • यहां के बांदीपुरा के हाजिन इलाके में इंडियन आर्मी के पोस्ट को निशाना बनाकर मंगलवार की शाम को आतंकियों ने धावा बोला।
  • 13 राष्ट्रीय राइफल्स और पुलिस पर दो तरफ से आतंकियों ने ग्रेनेड लांचर से 8 राउंड फायर किए।
  • करीब चार से छह की संख्या में आतंकियों ने आर्मी कैम्प पर दोनों तरफ से हमला किया।
  • सेना द्वारा आतंकियों के सफाए के लिए चलाए गए ऑपरेशन ऑल आउट के तहत साल 2018 में ही 19 मई तक 80 आतंकियों को मार गिराया है

फाइल फोटो
डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के बांदीपुरा जिले में एक बार फिर से आतंकियों ने हमला किया है। यहां के बांदीपुरा के हाजिन इलाके में इंडियन आर्मी के पोस्ट को निशाना बनाकर मंगलवार की शाम को आतंकियों ने धावा बोला। शुरुआती रिपोर्ट्स के मुताबिक 13 राष्ट्रीय राइफल्स और पुलिस पर दो तरफ से आतंकियों ने ग्रेनेड लांचर से 8 राउंड फायर किए। यह सेना पर ग्रेनेड अटैक की ताजा घटना है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, करीब चार से छह की संख्या में आतंकियों ने आर्मी कैम्प पर दोनों तरफ से हमला किया। सेना ने हमले के बाद इलाके को घेर कर तलाशी अभियान शुरु कर दिया है

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि आतंकियों की संख्या चार से छह के बीच में थी। आतंकियों ने कैंप पर लगातार फायरिंग की जिसकी जवाबी कार्रवाई में सेना ने भी फायरिंग की। अधिकारी ने यह भी कहा कि आतंकियों का यह आत्मघाती हमला नहीं था। आतंकियों के हमले में सेना कैंप पर तैनात दो जवानों के घायल होने की खबर है। इस फायरिंग के बाद लोग घरों से बाहर आ गए।    

 

 


बता दें कि कश्मीर में रमजान के चलते सेना ने सीजफायर की घोषणा की है। इसी के चलते आतंकियों ने सिर उठाना शुरू कर दिया और सेना के कैंप में घुसकर हमला करने लगे है। सेना द्वारा आतंकियों के सफाए के लिए चलाए गए ऑपरेशन ऑल आउट के तहत साल 2018 में ही 19 मई तक 80 आतंकियों को मार गिराया है

गौरतलब है कि पिछले हफ्ते भी आतंकियों ने शोपियां और पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर ग्रेनेड से हमला किया था, जिसमें कई सुरक्षाकर्मी घायल हो गए थे। गौतरलब है कि भारत सरकार द्वारा रमजान के महीने में सीजफायर की घोषणा के बाद से आतंकी घटनाएं चेजी से बढ़ी हैं। हालांकि, सरकार की ओर से पहले ही स्पष्ट कर दिया गया था कि सीजफायर आम लोगों के लिए होगा, आतंकी अगर हमला करेंगे तो उसका करारा जवाब दिया जाएगा।