हरियाणा: राज्य में नहीं है डीएपी खाद की कोई कमी, किसान अगली फसल बोने के लिए है तैयार : कृषि मंत्री जे. पी. दलाल

October 28th, 2021

हाईलाइट

  • केंद्र से डीएपी उर्वरक के आए 6 रेक

डिजिटल डेस्क, चंडीगढ़। हरियाणा के कृषि मंत्री जे. पी. दलाल ने बुधवार को कहा कि राज्य में डीएपी खाद (उवर्रक) की कोई कमी नहीं है। दलाल ने कहा कि केंद्र से इसके छह और रेक आने से राज्य में डीएपी उर्वरक की कोई कमी नहीं होगी। दलाल ने यहां मीडिया से कहा कि किसान अगली फसल बोने के लिए तैयार रहें।

उन्होंने किसानों से जैविक डीएपी उर्वरक का उपयोग करने का आग्रह किया और कहा कि किसानों को इससे फसलों और सब्जियों का उचित मूल्य मिलेगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की सहायता से गोबर से तैयार की गई जैविक खाद की एक बड़ी मात्रा उपलब्ध कराई जाएगी और इससे गौशालाओं के लिए अच्छी आय भी होगी।

मंत्री ने कहा कि अगली रबी फसल के दौरान लगभग 11 लाख मीट्रिक टन (एमटी) यूरिया की आवश्यकता होगी। राज्य के पास लगभग 2.60 लाख मीट्रिक टन यूरिया पहले से ही उपलब्ध है, जिसमें से अब तक 90,000 मीट्रिक टन से अधिक यूरिया किसानों को उपलब्ध कराया जा चुका है। मंत्री ने कहा कि लगभग 44.40 लाख मीट्रिक टन धान अनाज मंडियों में पहुंच गया है, जिसमें से 43.61 लाख मीट्रिक टन की खरीद हो चुकी है। 25 अक्टूबर तक लगभग 4.68 लाख मीट्रिक टन बासमती धान अनाज मंडियों में आ चुका है, जिसमें से 4.56 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद हो चुकी है।

(आईएएनएस)

खबरें और भी हैं...