माकपा के शीर्ष नेता: नहीं रहे त्रिपुरा के माकपा नेता बिजन धर, कोरोना की वजह से 70 साल की उम्र में हुआ निधन

October 11th, 2021

हाईलाइट

  • कोलकाता के एक अस्पताल में ली अंतिम सांसे

डिजिटल डेस्क, अगरतला। त्रिपुरा में माकपा के एक शीर्ष नेता और पार्टी की केंद्रीय समिति के सदस्य बिजन धर का सोमवार को कोलकाता के एक अस्पताल में कोविड-19 के बाद की जटिलताओं की वजह से निधन हो गया। डॉक्टरों और पार्टी सूत्रों ने यह जानकारी दी। वह 70 वर्ष के थे।

त्रिपुरा में वाम मोर्चा समिति के संयोजक रहे धर के परिवार में बेटी गोपा धर और पत्नी इला दासगुप्ता हैं। धर का पार्थिव शरीर सोमवार को वापस अगरतला लाया जाएगा और वामपंथी नेता की इच्छा के अनुसार उनका शव मंगलवार को अगरतला सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल को सौंपे जाने की संभावना है।

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी-मार्क्‍सवादी के एक केंद्रीय समिति सदस्य, धर 13 सितंबर को कोविड -19 पॉजिटिव पाए गए थे और अगरतला में एक संक्षिप्त उपचार के बाद उन्हें कोलकाता के एक निजी अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया, जहां उन्होंने सोमवार की सुबह अंतिम सांस ली। माकपा पोलित ब्यूरो ने एक बयान में मौत पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि धर 1970 के दशक में छात्र आंदोलन में सक्रिय रूप से शामिल थे और वह 1978 में पार्टी की त्रिपुरा राज्य समिति के लिए चुने गए थे।

उन्हें 2008 में माकपा की त्रिपुरा राज्य समिति के सचिव के रूप में चुना गया था और वह 2018 तक उस पद पर बने रहे। बयान में कहा गया है कि 1975-77 में आपातकाल के दौरान वह एक साल से अधिक समय तक भूमिगत रहे और बाद में उन्हें गिरफ्तार किया गया और पांच महीने की जेल हुई।

(आईएएनएस)