दैनिक भास्कर हिंदी: उपराष्ट्रपति नायडू बोले- महिलाओं को संसद में भी आरक्षण मिलना चाहिए

July 27th, 2019

हाईलाइट

  • उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने संसद में महिलाओं को आरक्षण देने की वकालत की है
  • नायडू बोले संसद में आरक्षण के बाद महिलाओं को फंड, कार्य और कार्यकर्ता दिए जाने चाहिए

डिजिटल डेस्क,मुंबई। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने संसद में भी महिलाओं को आरक्षण देने की वकालत की है। शनिवार को मुंबई में वेंकैया नायडू ने कहा, महिलाओं को संसद में सीट आरक्षण दिया जाना चाहिए और उसके बाद उन्हें फंड, कार्य और कार्यकर्ता प्रदान किया जाना चाहिए।

नायडू ने कहा, हम 'मदर इंडिया' कहते हैं, 'फादर इंडिया' नहीं कहते। यह दर्शाता है कि देश में महिलाओं को कितनी अहमियत दी जाती है। महिलाएं जनसंख्या का 50 फीसदी हैं। उनको संसद में भी आरक्षण मिलना चाहिए। आरक्षण देने के बाद महिलाओं को फंड, कार्य और कार्यकर्ता दिया जाना चाहिए।

मुंबई में लोकतंत्र पुरस्कार समारोह के दौरान नायडू ने ये बातें कहीं। वेंकैया नायडू का यह बयान उस वक्त सामने आया है, जब सपा सांसद आजम खान की विवादित टिप्पणी को लेकर संसद से लेकर सड़क तक बवाल मचा हुआ है। सपा सांसद आजम खान ने लोकसभा में पीठासीन महिला सांसद रमा देवी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, जिसकी सदन में कड़ी आलोचना की गई।

बता दें कि, 17 वीं लोकसभा में 2019 के चुनावों में महिला सांसदों की सबसे अधिक संख्या है। संसद में 78 महिला सदस्य हैं, जो आजादी के बाद सबसे अधिक है। नायडू ने स्थानीय निकाय चुनावों में महिलाओं को 50 प्रतिशत सीट आरक्षण देने के लिए महाराष्ट्र राज्य की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, मैं स्थानीय निकायों के लिए हर पांच साल में चुनाव कराने को अनिवार्य बनाने की वकालत करता रहा हूं। राज्य सरकार को किसी एक बहाने या अन्य पर उन्हें स्थगित करने की गुंजाइश नहीं है। संसद की तरह, विधानसभा में भी यह अनिवार्य होना चाहिए।। राज्यसभा के सभापति नायडू ने कहा, स्थानीय निकाय समाप्त हो रहे हैं और एक या दो महीने पहले उन्हें अगले चुनाव की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।