comScore

Delhi Violence Key Points: हिंसा में अब तक 13 लोगों की मौत, पुलिस ने दिए उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने का आदेश

Delhi Violence Key Points: हिंसा में अब तक 13 लोगों की मौत, पुलिस ने दिए उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने का आदेश

हाईलाइट

  • CAA को लेकर उत्तर पूर्वी दिल्ली में शुरू हुए बवाल में अब तक 13 लोगों की मौत हो गई
  • पुलिस ने उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने का आदेश जारी किया
  • गृह मंत्रालय ने IPS एसएन श्रीवास्तव को स्पेशल कमिश्नर (लॉ एंड ऑर्डर) नियुक्त किया

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर उत्तर पूर्वी दिल्ली में शुरू हुए बवाल में अब तक 13 लोगों की मौत हो गई है। इसमें शहीद हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल का नाम भी शामिल है। 2 आईपीएस अफसरों समेत 56 पुलिसकर्मी जख्मी हैं। हिंसा की घटनाओं में करीब 200 लोग घायल हुए हैं। स्थिति को काबू करने के लिए पुलिस ने उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने का आदेश जारी किया है। पूर्वोत्तर दिल्ली के प्रभावित क्षेत्रों में जाफराबाद, चांद बाग, मौजपुर, भजनपुरा, कर्दमपुरी, गोकुलपुरी, खजुरी, और करावल नगर शामिल हैं। इनमें से चार जगहों पर कर्फ्यू लगाया गया है। वहीं हिंसा को काबू करने में फेल रहने के बाद गृह मंत्रालय ने IPS एसएन श्रीवास्तव को स्पेशल कमिश्नर (लॉ एंड ऑर्डर) नियुक्त किया है।

हिंसा संबंधी शिकायतों पर FIR दर्ज करने की मांग
पूर्वोत्तर दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट और दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका लगाई गई।  पूर्व मुख्य सूचना आयुक्त वजाहत हबीबुल्ला, भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद और सामाजिक कार्यकर्ता बहादुर अब्बास नकवी ने सुप्रीम कोर्ट में यह याचिका दायर की है। याचिका में याचिका में हिंसा संबंधी शिकायतों पर FIR दर्ज करने का निर्देश देने के अनुरोध किया गया है। इसके अलावा सीएए को लेकर शाहीन बाग और राष्ट्रीय राजधानी के अन्य हिस्सों में जारी धरनों में महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों को निर्देश देने की मांग भी की गई है।जस्टिस एसके कौल और जस्टिस केएम जोसफ की एक बेंच बुधवार को इस पर सुनवाई करेंगी। मानवाधिकार कार्यकर्ता हर्ष मंडेर और फराह नकवी ने भी ऐसी ही याचिका का दायर की है, जिस पर बुधवार को सुनवाई के लिए सहमति बनी। याचिका में जांच के लिए दिल्ली से बाहर के अधिकारियों की एसआईटी के गठन की मांग की गई है।

दिल्ली पुलिस ने हालात काबू में होने का किया दावा
दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता एडिश्नल पुलिस कमिश्नर मंदीप सिंह रंधावा ने कहा कि पूर्वोत्तर दिल्ली के मौजपुर, जाफराबाद, करावलनगर और चांदबाग में कर्फ्यू लगा दिया गया है। जगहों पर कर्फ्यू लगाया गया है। हिंसात्मक प्रदर्शनों को देखते हुए पूरी दिल्ली में एक महीने के लिए धारा 144 लगाई गई है। रंधावा ने कहा कि हिंसाग्रस्त इलाके की ड्रोन से लगातार निगरानी की जा रही है। उन्होंने हालात के काबू में होने का दावा किया। रंधावा ने कहा, जिन इलाकों में घटनाएं घट रही हैं, उन इलाकों की गलियां बेहद संकरी हैं। भीड़ हमले करके भाग जा रही है। हम भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पीछे-पीछे जा रहे हैं। लोग छतों से पथराव कर रहे हैं। भीड़ के निशाने पर पुलिस और आम लोग हैं। पुलिस को भीड़ पर काबू पाने में थोड़ी-बहुत परेशानी हो रही है। रंधावा ने मीडिया में आ रही उन खबरों का खंडन किया जिनमें शांति बनाए रखने के लिए दिल्ली पुलिस के पास पर्याप्त सुरक्षा बल मुहैया न होने की बात कही जा रही थी।

नॉर्थ इस्ट इलाके में बंद रहेंगे स्कूल
दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया, 'हिंसा प्रभावित नोर्थ-ईस्ट ज़िले में कल भी स्कूल बंद रहेंगे। गृह परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। CBSE से भी कल की बोर्ड परीक्षा स्थगित करने का अनुरोध किया है। कई जगह अफ़वाहें फैलाने का काम भी हो रहा है। जब तक कोई घटना आप अपनी आंखों से होते न देखें तब न तो ऐसी बातों पर यक़ीन करें और न ही इस तरह के Whatsapp मेसेजेस को किसी को भेजें। ऐसे नाज़ुक समय पर सबसे बड़ा योगदान अफ़वाहें न फैलाना भी है।' दिल्ली सरकार की परीक्षा स्थगित करने के अनुरोध के बाद CBSE ने 10वीं और 12वीं की कल होने वाली परीक्षा को स्थगित कर दिया है।

मीडियाकर्मियों पर हमला
उत्तर पूर्वी दिल्ली में मंगलवार को फिर भड़की हिंसा में जेके 24 X 7 न्यूज चैनल का एक पत्रकार गोली लगने से घायल हो गया और एनडीटीवी के दो पत्रकारों को दंगाइयों ने बुरी तरह पीटा। जेके 24 X 7 न्यूज चैनल ने एक ट्वीट में कहा कि उसके पत्रकार आकाश को दिल्ली के मौजपुर क्षेत्र में संघर्ष की कवरेज के दौरान गोली लग गई। वह अस्पताल में हैं जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। एनडीटीवी ने कहा कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में एक जगह उसके पत्रकार अरविन्द गुणशेखर पर दंगाइयों ने हमला किया। उनका एक दांत टूट गया है। जब उनके सहकर्मी सौरभ ने उन्हें बचाने की कोशिश की तो उनपर मुक्के से वार किया गया। 

राजघाट में सीएम केजरीवाल की शांति प्रार्थना
दिल्ली में शांति बहाली की कोशिश के लिए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया राजघाट पहुंचे। दोनों नेताओं ने शांति के लिए यहां प्रार्थना की। राजघाट पर शांति प्रार्थना के बाद राजघाट पर सीएम अरविंद केजरीवाल ने मीडिया से कहा कि पूरा देश दिल्ली की हिंसा को लेकर चिंतित है. उन्होंने कहा कि पिछले दो दिनों की हिंसा को लेकर सरकार चिंतित है। उन्होंने कहा कि इस हिंसा में जान-माल और संपत्ति का नुकसान हुआ है। सीएम ने बताया कि अगर हिंसा बढ़ती है तो इसका असर सब पर पड़ेगा। सीएम ने कहा कि हम सभी गांधी जी के सामने शांति प्रार्थना करने आए थे जो अहिंसा के पुजारी थे।

भजनपुरा और खुरेजी खास में पुलिस का फ्लैग मार्च
उत्तर पूर्व दिल्ली के भजनपुरा और खुरेजी खास इलाके में मंगलवार को आगजनी और पथराव होने के बाद पुलिस ने फ्लैग मार्च किया। भजनपुरा में बैटरी की एक दुकान जला दी गयी। उस दुकान में तोड़फोड़ की गयी। सड़क पर जली हुई बैटरियां बिखरी नजर आयीं। स्थानीय व्यक्ति राकेश कुमार ने कहा कि करीब साढ़े तीन बजे यह यह घटना घटी। उन्होंने कहा, 'हम नहीं जानते कि स्थिति कैसे बिगड़ी। हम अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतिंत है। मेरा परिवार अपने घर के नजदीक ऐसी चीज देखकर डरा हुआ है।' विशेष पुलिस आयुक्त सतीश गोलचा और प्रवीर रंजन ने फ्लैग मार्च की अगुवाई की।

गृहमंत्री की बैठक
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में मंगलवार को एक बैठक हुई, जिसमें दिल्ली के कई इलाकों में हो रही हिंसा के हालात की समीक्षा की गई। इस बैठक में दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सहित कई वरिष्ठ अधिकारी और राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे। इस दौरान अमित शाह ने सभी दलों से संयम बरतने, पार्टी लाइन से ऊपर उठने का आग्रह किया। उन्होंने मीडिया और जनता से अपील की कि अफवाह फैलाने और गैर सत्यापित जानकारी देने से बचें। स्थिति को ध्यान में रखते हुए हिंसा प्रभावित इलाकों में दिल्ली पुलिस के 1000 हथियारबंद जवान तैनात किए गए हैं।

ओवैसी ने की सेना की तैनाती की मांग
एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री कार्यालय से दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों में सेना को तैनात करने की मांग की। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस अपनी ड्यूटी करने में विफल रही। ओवैसी ने ट्वीट किया- उत्तर पूर्वी दिल्ली में स्थिति बदतर हो रही है। अगर प्रधानमंत्री कार्यालय शांति बहाल करना चाहता है तो इसे प्रभावित क्षेत्रों में सेना को तैनात करना होगा। जान-माल की रक्षा करनी है तो इसका एकमात्र रास्ता यही है।

BJP सांसद गौतम गंभीर की दो टूक
माना जा रहा है क‍ि बीजेपी नेता कप‍िल म‍िश्रा की ओर से CAA को लेकर द‍िए गए भड़काऊ बयान के कारण ह‍िंसा भड़की। द‍िल्‍ली के पूर्व क्र‍िकेटर और बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने इस मामले पर कहा, 'कोई भी व्‍यक्‍त‍ि हो, चाहे वह कप‍िल म‍िश्रा हो या कोई और, भले ही वह क‍िसी भी पार्टी से संबंध रखता हो यद‍ि उसने भड़काऊ भाषण द‍िया है तो उसके ख‍िलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। बता दें कि शाहीन बाग के बाद जाफराबाद और चांद बाग में रोड बंद किए जाने के खिलाफ सड़क पर उतरे कपिल मिश्रा ने धमकी दी थी कि दिल्ली पुलिस तीन दिन के अंदर रास्तों को खाली कराए। उन्होंने कहा था अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे के बाद वापस जाने तक हम यहां से शांतिपूर्वक जा रहे हैं, लेकिन अगर तीन दिन में रास्ते खाली नहीं हुए, तो हम फिर सड़कों पर उतरेंगे। इसके बाद हम दिल्ली पुलिस की नहीं सुनेंगे।

फायरिंग करने वाला युवक गिरफ्तार
पूर्वोत्तर दिल्ली की हिंसा में जिस लाल टी-शर्ट पहने युवक ने फायरिंग की थी, उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपी का नाम शाहरुख है। शाहरुख ने 8 राउंड फायरिंग की थी। उसे हिरासत में ले लिया गया था, अब उसको गिरफ्तार कर लिया गया है। शाहरुख की फायरिंग का एक वीडियो भी सामने आया था। वीडियो में दिख रहा है कि शाहरुख ने पुलिसकर्मी पर पिस्टल तान दी थी। बता दें कि प्रदर्शनकारियों ने सोमवार को भड़की हिंसा के दौरान मकानों, दुकानों, वाहनों और एक पेट्रोल पम्प में आग लगा दी थी और पथराव भी किया था।

कमेंट करें
d2qJX