दैनिक भास्कर हिंदी: बीजेपी विधायक पर रेप का आरोप, युवती ने की सीएम हाउस के बाहर खुदकुशी की कोशिश

April 8th, 2018

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बांगरमऊ के बीजेपी विधायक पर एक युवती ने रेप के आरोप लगाए है। न्याय की गुहार लेकर रविवार को महिला लखनऊ पहुंची और सीएम हाउस के सामने खुदकुशी की कोशिश की। किसी तरह पुलिस ने युवती को आत्मदाह करने से रोका। युवती का कहना है कि वह करीब एक साल से न्याय के लिए भटक रही है लेकिन कोई भी उसकी बात नहीं सुन रहा।

एक साल पहले किया था गैंगरेप
बीजेपी के जिस विधायक पर रेप के आरोप लगे है उसका नाम कुलदीप सिंह सेंगर है। वह उन्नाव के बांगरमऊ से विधायक है। युवती की माने तो कुलदीप सिंह सेंगर ने उसके साथियों के साथ मिलकर करीब एक साल पहले उसके साथ गैंगरेप किया था। पुलिस थाने में युवती ने इसकी शिकायत भी की थी, लेकिन किसी ने कोई कार्रवाई नहीं की। उल्टे शिकायत करने के बाद उसे और उसके परिवार को धमकियां मिलने लगीं। इतना ही नहीं उसके साथ मारपीट भी की गई। थक हारकर जब किसी ने उसकी बात नहीं सुनी तो वह रविवार सुबह न्याया की गुहार लेकर अपने परिवार के साथ लखनऊ में मुख्यमंत्री के निवास पुहंची और वहां धरने पर बैठ गई। इस दौरान उसने खुदकुशी करने की भी कोशिश की।

थाने के बाहर भी की खुदककुशी की कोशिश
पुलिस ने जैसे-तैसे युवती को समझाइश देकर खुदकुशी करने से रोका और उसे गौतम पल्ली थाने ले गई। थाने के बाहर भी यवती ने एक बार फिर खुदकुशी की कोशिश की। इससे पहले युवती अपनी शिकायत लेकर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के पास भी गई थी, लेकिन वहां भी उसे कोई मदद नहीं मिली। मामले में एडीजी लखनऊ राजीव कृष्‍ण का कहना है कि केस को लखनऊ स्‍थानांतरित कर दिया गया है। उनके अनुसार जांच के बाद ही आरोपों को साबित किया जा सकता है। एडीजी ने बताया कि जांच में पाया गया कि दोनों पक्षों में 10-12 साल से विवाद चल रहा है। 

 



बीजेपी विधायक की सफाई
वहीं बीजेपी विधायक का कहना है कि मामले की स्क्रिप्‍ट महिला के परिवार ने तीन दिन पहले उन्‍नाव में रची थी। उन्‍होंने कहा '2002 के चुनाव में जब मैं चुनाव लड़ रहा था तो वहां एक लड़के का अपहरण हुआ था। तब भी मुझ पर आरोप लगाया। जिन दो निर्दोष लोगों को फंसाया जा रहा था, पुलिस उन्‍हें मामले से निकालने का प्रयास कर रही थी। तब इन लोगों को लगा कि मैंने उन लोगों की मदद की। हां मैं पूरे जिले के लोगों की मदद करता हूं'। 

आरोपी को मिले सजा
कुलदीप ने आगे कहा, 'इन लोगों ने पिछले छह महीनों से फेसबुक, व्‍हाट्सएप समेत अन्‍य माध्‍यमों से मेरे खिलाफ कई शिकायतें कीं। इन्‍होंने मेरे खिलाफ लगभग सभी विभागों में पत्रों के माध्‍यम से भी कई मामलों में फंसाने के लिए शिकायतें कीं। प्रशासन और पुलिस ने जांच भी की। अब यह इनकी आखिरी स्क्रिप्‍ट बची थी। तीन दिन पहले इनमें पारिवारिक झगड़ा हुआ था, तब भी इन्‍होंने मेरा नाम खींचने की कोशिश की थी। कुलदीप ने कहा 'मैं प्रशासन से अनुरोध करना चाहता हूं कि मामले की जांच कराई जाए और जो भी आरोपी हों उन्‍हें सजा दिलाई जाए।'