दैनिक भास्कर हिंदी: फिर भड़के यशवंत, कहा- जयंत के साथ-साथ जय शाह की भी जांच हो

November 11th, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। बीजेपी के सीनियर लीडर और पूर्व फाइनेंस मिनिस्टर यशवंत सिन्हा एक बार फिर से मोदी सरकार पर हमलावर हो चुके हैं। यशवंत सिन्हा ने पैराडाइज़ पेपर्स में अपने बेटे जयंत सिन्हा का नाम सामने आने के बाद कहा है कि 'जयंत सिन्हा की जांच हो, लेकिन साथ-साथ अमित शाह के बेटे जय शाह के खिलाफ भी जांच होनी चाहिए।' इसके अलावा उन्होंने GST को भी पूरी तरह से 'रद्दी' बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अरुण जेटली को हटाने की मांग की है। 

 

1 महीने के अंदर हो जांच

 

एक न्यूज चैनल से बातचीत में बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा ने कहा कि 'मेरी सरकार से मांग है कि जिन भी नेताओं के नाम पैराडाइज़ पेपर्स में आए हैं, उनकी जांच तय समय के अंदर की जाए। सरकार 15 दिन या 1 महिने के अंदर जांच कर बताए कि ये नेता दोषी है या नहीं?' उन्होंने आगे कहा कि 'अगर जयंत सिन्हा के खिलाफ जांच हो रही है, तो जय शाह के खिलाफ क्यों नहीं?' सिन्हा ने आगे कहा कि मेरी बस इतनी मांग है कि जिन-जिन लोगों के नाम सामने आए हैं, सबकी जांच होनी चाहिए। 

 

अरुण जेटली पर फिर भड़के

 

पिछले महीने ही अरुण जेटली पर जमकर हमला करने वाले यशवंत सिन्हा ने एक बार फिर से अपनी भड़ास निकाली है। इस बार भी यशवंत सिन्हा ने GST के बहाने अरुण जेटली पर हमला करते हुए कहा है कि 'GST लागू करने के समय फाइनेंस मिनिस्टर ने अपने दिमाग का इस्तेमाल ही नहीं किया। यही कारण है कि GST में कुछ न कुछ बदलाव लगातार किया जा रहा है।' इतना ही नहीं उन्होंने ये भी कहा कि 'केंद्र सरकार इकोनॉमिस्ट की लीडरशिप में एक कमेटी बनाए और उनकी रिपोर्ट आने के बाद GST में जरूरी बदलाव करे।' 

जय शाह पर क्या है आरोप

 

पिछली महीने एक न्यूज वेबसाइट अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी से रिलेटेड एक रिपोर्ट छापी थी, जिसमें कहा गया था कि शाह की कंपनी का टर्नओवर एक साल में 16,000 गुना बढ़ गया। इस आरोपों को जय शाह ने खारिज कर दिया था। आरएसएस नेता भैयाजी जोशी ने भी कहा था कि जो लोग जय शाह पर आरोप लगा रहे हैं, उन्हें कोर्ट जाना चाहिए। वहीं पैराडाइज़ पेपर्स में नाम सामने आने के बाद जयंत सिन्हा ने भी सफाई देते हुए कहा था कि उनका लेन-देन पूरी तरह से सही था।