comScore

योगी कर सकते हैं अपने कैबिनेट में फेरबदल

November 16th, 2020 17:31 IST
 योगी कर सकते हैं अपने कैबिनेट में फेरबदल

हाईलाइट

  • योगी कर सकते हैं अपने कैबिनेट में फेरबदल

लखनऊ, 16 नवंबर (आईएएनएस)। योगी आदित्यनाथ सरकार अगले महीने कैबिनेट में बड़े फेरबदल की योजना बना रही है। फेरबदल विधान परिषद में शिक्षकों और स्नातकों के निर्वाचन क्षेत्रों के चुनाव खत्म होने के बाद किया जाएगा।

विधान परिषद चुनाव 3 दिसंबर को संपन्न होंगे।

उच्च पद वाले सूत्रों के अनुसार, 2022 के विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए फेरबदल किया जाएगा।

संविधान के अनुसार, उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री सहित अधिकतम 60 मंत्री बन सकते हैं।

वहीं वर्तमान में मुख्यमंत्री सहित कुल 54 मंत्री हैं। इनमें 23 कैबिनेट मंत्री, स्वतंत्र प्रभार के साथ 9 राज्यमंत्री और 22 राज्यमंत्री हैं। इन 54 मंत्रियों में से 53 भाजपा के हैं, जबकि अपना दल (एस) का एक मंत्री है।

दो कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान और कमल रानी वरुण का अगस्त में निधन हो गया था। मंत्रिपरिषद में अभी आठ पद खाली हैं।

सूत्रों ने कहा कि राज्य के कुछ मंत्रियों को कैबिनेट रैंक में पदोन्नत किया जा सकता है और हाल के उप-चुनावों में चुने गए विधायकों में से एक को मंत्री पद दिया जा सकता है।

भाजपा के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा, कुछ वरिष्ठ मंत्रियों को मंत्रिपरिषद से बाहर किया जा सकता है और आगामी चुनाव के लिए पार्टी संगठन में जिम्मेदारी दी जाएगी।

अधिकारी ने कहा कि मंत्रिपरिषद में जाति और क्षेत्रीय संतुलन को सुनिश्चित करने के उद्देश्य से नए प्रेरण बनाए जाएंगे।

उन्होंने कहा, हमारी नजर अब 2022 के विधानसभा चुनावों पर है और हम अधिक वोटों के साथ सत्ता में वापसी के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

सूत्रों ने यह भी कहा कि कुछ मंत्री जिनके प्रदर्शन से योगी आदित्यनाथ संतुष्ट नहीं हैं, उन्हें बाहर किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री ने पिछले साल के फेरबदल के दौरान वित्तमंत्री राजेश अग्रवाल, सिंचाई मंत्री धर्मपाल, बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल और आबकारी मंत्री अर्चना पांडेय को बाहर कर दिया था।

इसी फेरबदल में पांच मंत्रियों को पदोन्नत किया गया था और 18 नए चेहरे शामिल किए गए थे।

एमएनएस/एसजीके

कमेंट करें
CYb1V