comScore

बाड़मेर में गिरा पंडाल, 16 की मौत और 50 से अधिक घायल, पीएम मोदी ने जताया शोक

June 24th, 2019 10:40 IST

हाईलाइट

  • आंधी-तूफ़ान के चलते गिरा रामकथा का पंडाल
  • करंट फैलने और दम घुटने से हुई 14 लोगों की मौत
  • जान गंवाने वालों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए देने की घोषणा

डिजिटल डेस्क, जयपुर। राजस्थान के बाड़मेर में रामकथा के दौरान आंधी-तूफान चलने से पंडाल गिर गया। हादसा बालोतरा के जसोल कस्बे में रविवार शाम को हुआ है। हादसे में 16 लोगों की मौत हुई है, जबकि 50 से ज्यादा लोग जख्मी हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है, साथ ही राहत कार्य चालू है। जानकारी के अनुसार बारिश के कारण पंडाल में करंट फैल गया था, जो इतने बड़े हादसे की वजह बना।

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने इस घटना में जान गंवाने वालों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए देने की घोषणा की है। मुआवजे के रूप में घायलों को अधिकतम 2 लाख प्रदान किए जाने की भी घोषणा की गई है। जोधपुर डीसी को इस घटना की जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

स्थानीय डीएम हिमांशु गुप्ता के अनुसार पंडाल में 700 से ज्यादा लोग मौजूद थे। इन लोगों में ज्यादातर बुजुर्ग थे। मृतकों में नौ महिलाएं और सात पुरुष हैं। जानकारी के अनुसार ज्यादातर लोगों की मौत की वजह पंडाल में फैला करंट है। साथ ही कुछ लोगों की मौत दम घुटने से हुई है। 

घटना का सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में कथावाचक मुरलीधर लोगों ने जल्द से जल्द पंडाल खाली करने का बोल रहे हैं। जिसके कुछ ही सेकेंड बाद पंडाल गिर गया। पंडाल गिरने के बाद भगदड़ मच गई। कई लोगों को पंडाल के नीचे से निकाल लिया गया है। अभी भी पंडाल में कई लोगों के दबे होने की आशंका है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए पीड़ितों के परवारजनों के प्रति सहानुभूति जाहिर की है। उन्होंने लिखा है कि 'राजस्थान के बाड़मेर में पंडाल गिरने की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिवार के साथ हैं। मैं घायलों के जल्द ठीक होने की कामना करता हूं।'

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस हादसे पर ट्वीट करके दुःख जाहिर किया है। उन्होंने लिखा है कि 'जसोल,बाड़मेर में राम कथा के दौरान टेंट गिरने से हुए हादसे में बड़ी संख्या में लोगों की जान जाने की जानकारी अत्यंत दुखद, दुर्भाग्यपूर्ण है। ईश्वर से दिवंगतों की आत्मा को शांति प्रदान करने,शोकाकुल परिजनों को सम्बल देने की प्रार्थना है। घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं।'

साथ ही उन्होंने दुसरे ट्वीट में लिखा है कि 'स्थानीय प्रशासन द्वारा राहत एवं बचाव का कार्य किया जा रहा है। संबंधित अधिकारियों को हादसे की जांच करने, घायलों का शीघ्र उपचार सुनिश्चित करने तथा प्रभावितों एवं उनके परिजनों को हरसंभव सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। साथ ही गहलोत ने हादसे पर संवेदना जताते हुए दो केबिनेट मंत्रियों रमेश मीणा और सालेह मोहम्मद को तत्काल जसोल पहुंचकर राहत कार्यों पर निगरानी रखने के निर्देश भी दिए हैं। 

राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी बाड़मेर हादसे को लेकर दुःख व्यक्त किया है। साथ ही उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं से पीड़ितों और उनके परिवार की हरसंभव मदद करने की अपील की है। उन्होंने लिखा है कि 'बाड़मेर के जसोल में राम कथा के दौरान तेज आंधी से गिरे पांडाल हादसे में एक दर्जन से अधिक लोगों की मौत का समाचार सुन बेहद दुःख हुआ। मैं ईश्वर से दिवंगतों की आत्मा को शांति तथा शोक संतप्त परिजनों को कष्ट की इस घड़ी में संबल प्रदान करने की कामना करती हूं।'   

घटना पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, कैलाश चौधरी, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने घटना पर दुख जताया है।
 

कमेंट करें
hGDEA