comScore

कर्नाटक में उठापटक, दो निर्दलीय विधायकों ने छोड़ा सरकार का साथ

January 16th, 2019 18:47 IST

हाईलाइट

  • गुरुग्राम के एख रिसॉर्ट में विपक्षी विधायक
  • हॉर्स ट्रेंडिंग का लग रहा आरोप
  • आरोप, विधायकों को तोड़ने की कोशिश

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरू। कर्नाटक के दो निर्दलीय विधायक आर. शंकर और एच. नागेश ने सरकार से समर्थन वापस ले लिया है। पिछले दिनों शुरू हुआ ये ड्रामा अब देश की राजधानी दिल्ली तक पहुंच गया है। दिल्ली से सटे गुरुग्राम के एक रिसॉर्ट में विपक्षी पार्टी भाजपा के 104 विधायकों ने डेरा डाल दिया है।


बीजेपी और जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन एक दूसरे पर हॉर्स ट्रेडिंग के आरोप लगा रहे हैं। इसकी वजह ये मानी जा रही है कि कांग्रेस-जेडीएस, बीजेपी विधायकों को तोड़कर गठबंधन में शामिल कर सकती हैं। उधर कांग्रेस-जेडीएस ने बीजेपी पर हॉर्स ट्रेडिंग के आरोप लगाए हैं। दावा किया जा रहा है कि बीजेपी उनके विधायकों को तोड़ने की कोशिश कर रही है।

 
कर्नाटक बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष येदियुरप्पा ने कहा, बीजेपी पर लग रहे हॉर्स ट्रेडिंग के आरोप पूरी तरह से निराधार है। उन्होंने कहा, जेडीएस-कांग्रेस ने ही हॉर्स ट्रेडिंग की शुरुआत की है। कुमारस्वामी हमारे विधायकों से संपर्क करने का भरसक प्रयास कर रहे हैं। वह पैसों के बल पर हमारे विधायकों को खरीदना चाहते हैं। उन्होंने हमारे कलबुर्गी विधायक को मंत्री पद और पैसों का लालच दिया। यहां तक की कुमारस्वामी हमारे विधायकों को मंत्रिपद का लालच भी दे रहे हैं। येदियुरप्पा ने कहा, हमारे विधायक 2-3 दिनों तक यहां रुकेंगे उसके बाद अपने-अपने क्षेत्र में चले जाएंगे।

उधर, येदियुरप्पा के हॉर्स ट्रेडिंग के आरोपों पर कुमारस्वामी ने कहा कि कांग्रेस-जेडीएस के पास पर्याप्त संख्या में विधायक है उन्हें बीजेपी विधायकों को तोड़ने की जरुरत नहीं है। उन्होंने ये भी कहा कि 'मुंबई में मौजूद विधायक हमारे हैं। हमारी सरकार को किसी तरह का कोई ख़तरा नहीं है, मैंने मुंबई में मौजूद विधायकों से बात की है और कई मुद्दों पर चर्चा की है। वो अपनी पार्टी छोड़कर कहीं नहीं जाएंगे।

कमेंट करें
O4QZB