comScore
Dainik Bhaskar Hindi

5 साल में हुई रेलवे के 768 ट्रैकमैन की मौत, सुरक्षा में लगे कर्मचारी खुद असुरक्षित

BhaskarHindi.com | Last Modified - January 12th, 2019 21:14 IST

1.4k
0
0
5 साल में हुई रेलवे के 768 ट्रैकमैन की मौत, सुरक्षा में लगे कर्मचारी खुद असुरक्षित

डिजिटल डेस्क, नागपुर। रेलवे ट्रैक (पटरी) की देखभाल करने वाले ट्रैकमैन कितने सुरक्षित हैं, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले 5 सालों में नागपुर सहित देश भर में 768 ट्रैकमैन की दर्दनाक मौत हुई है। इसमें नागपुर डिवीजन में 22 ट्रैकमैन की मृत्यु हो चुकी है। आरटीआई में मिली जानकारी के अनुसार 2012-13 से 2016-17 (पांच साल) तक नागपुर समेत देश भर में रेलवेे ट्रैक (पटरी) की देखभाल, दुरुस्ती व मेंटेनेंस का काम करते समय हुईं अलग-अलग दुर्घटनाओं में 768 ट्रैकमैन की मृत्यु हुई। महाराष्ट्र में 88 ट्रैकमैन की मृत्यु हो चुकी है। नागपुर डीवीजन में 22 ट्रैकमैन शामिल हैं, जिसमें डीआरएम नागपुर मध्य रेल के तहत 15 व डीआरएम नागपुर दक्षिण पूर्व मध्य में 7 ट्रैकमैन की मृत्यु के आंकड़े सामने आए।

रेलवे की सुरक्षा में लगे कर्मचारी खुद ही असुरक्षित
महासचिव स्वतंत्र रेलवे बहुजन कर्मचारी यूनियन विकास गौर के मुताबिक रेेलवे की जानमाल की सुरक्षा में ट्रैकमैन का अहम रोल होता है। रेलवे की सुरक्षा में लगे ट्रैकमैन ही सुरक्षित नहीं हैं। ट्रैकमैन के साथ हुए हादसे इसके गवाह हैं। ट्रैकमैन पटरी पर काम करते हैं और यह काफी जोखिमभरा काम है। रेलवे प्रशासन ने इनके सुरक्षा के पुख्ता कदम उठाना चाहिए। सेफ्टी उपायों पर विचार होना चाहिए। हादसे पर तुरंत प्रभाव से नियंत्रण करने की कोशिश होनी चाहिए। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download