comScore

नहीं रहे बाबूलाल गौर: कमलनाथ, शिवराज, दिग्विजय समेत दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि

नहीं रहे बाबूलाल गौर: कमलनाथ, शिवराज, दिग्विजय समेत दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि

हाईलाइट

  • शिवराज सिंह ने ट्वीट कर कहा, मध्यप्रदेश की राजनीति में एक युग की समाप्ति
  • दिग्विजय बोले गौर साहब के जाने से मैंने एक राजनीतिक साथी खो दिया

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर का बुधवार सुबह भोपाल के नर्मदा अस्पताल में निधन हो गया। गौर के निधन पर बीजेपी, कांग्रेस समेत कई दलों के नेताओं ने श्रद्धांजलि दी है। मुख्यमंत्री कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर बाबूलाल गौर के निधन पर शोक जताया है।  सीएम कमलनाथ ने बाबूलाल गौर के निवास पर उनके पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा, बाबूलाल ग़ौर के दुखद निधन का समाचार मुझे स्तब्ध करने वाला है,मेरे लिये व्यक्तिगत क्षति। आज मैंने एक अच्छा मित्र,साथी खो दिया।

'राजनीति में एक युग की समाप्ति'
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा, मध्यप्रदेश की राजनीति में एक युग की समाप्ति। बीजेपी के आधार स्तंभ, पूर्व मुख्यमंत्री, हमारे मार्गदर्शक व जन-जन के नेता बाबूलाल गौर के निधन से दुःखी हूं। ईश्वर से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें व परिजनों को इस गहन दुःख को सहने की क्षमता प्रदान करें।

'मैंने राजनीतिक साथी खो दिया'
कांग्रेस नेता और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा, बाबूलाल गौर के देहांत से मुझे गहरा दुख हुआ। राजनीतिक जीवन में हम दो ध्रुवों पर रहे लेकिन व्यावहारिक रूप से वो मेरे दिल के बेहद करीब थे। जब भी मिले पूरी गर्मजोशी के साथ मिले, जो भी किया पूरी ईमानदारी से किया। गौर साहब के जाने से मैंने एक राजनीतिक साथी खो दिया।

'भाजपा की राजनीतिक सोच वाले मार्गदर्शक थे'
बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने श्रद्धांजलि देते हुए कहा, बाबूलाल गौर सिर्फ नेता नहीं, भाजपा की राजनीतिक सोच वाले मार्गदर्शक भी थे। उनके साथ पार्टी के एक युग का अवसान हो गया। ईश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दे।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर दुख व्यक्त करते हुए कहा,गौर जी के निधन का समाचार दुःखद। मैं ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करता हूं साथ ही शोक संतप्त परिवारजनों के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट करता हूं।

छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम रमन सिंह ने भी ट्वीट कर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा, बाबूलाल गौर के देहांत से हृदय को गहरा दुःख पहुंचा है। संगठन को सशक्त करने में उनका योगदान अतुलनीय रहा है, मैं ईश्वर से उनकी आत्मा को शांति एवं शोकाकुल परिजनों को धैर्य प्रदान करने की प्रार्थना करता हूं।

छत्तीसगढ़ विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा, हमने एक कर्मयोगी कार्यकर्ता के रूप में मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबू लाल गौर को खोया है। उनका समूचा जीवन समाज में अन्त्योदय के स्थापना के लिये समर्पित रहा है। मंत्री के तौर पर उनका कार्य सबके लिये अनुकरणीय रहा है। हर युग में स्व. गौर कुशल संगठक के रूप में याद किये जायेंगे। उनके निधन से हम सब को अपूरणीय क्षति हुई है।

शरद यादव ने कहा, बाबूलाल गौर के निधन की खबर से आहत हूं। मेरे घनिष्ठ मित्र थे। जब कभी दिल्ली में होते समय मिलने पर आते थे। वह एक कुशल राजनीतिज्ञ थे। उनके निधन से न केवल राज्य बल्कि देश ने एक कदावर और वरिष्ठ नेता खो दिया है।

कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दुख व्यक्त करते हुए कहा, बाबूलाल गौर के दुःखद निधन पर मेरी गहरी संवेदनाए। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को शान्ति प्रदान करें एवं शोक संतप्त परिजनों को यह आघात सहने की शक्ति दे।

मध्यप्रदेश विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति, उपाध्यक्ष हिना कावरे और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने बाबूलाल गौर के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उन्हें भावभीनीं श्रद्धांजलि अर्पित की है।

 विधानसभा अध्यक्ष प्रजापति ने अपने शोक संदेश में कहा... 
मध्यप्रदेश विधानसभा के दस बार सदस्य रहे गौर ने विधायक, मंत्री और मुख्यमंत्री के रूप में प्रदेश की उल्लेखनीय सेवा करते हुए लोकतंत्र के उत्कृष्ट मूल्यों का निर्वहन किया। गौर के निधन से प्रदेश ने एक कुशल राजनीतिज्ञ, लोकप्रिय प्रशासक तथा कर्मठ समाजसेवी खो दिया है। गौर ने अपने करिश्माई नेतृत्व से सबके दिलों में अमिट छाप छोड़ी है। गौर को साहसी, दूरदर्शी और मानवीय नेता बताते हुए कहा कि उनका निधन सार्वजनिक जीवन की अपूरणीय क्षति है।
   
विधानसभा उपाध्यक्ष कावरे ने अपने शोक संदेश में कहा... 
गौर के निधन से प्रदेश में एक श्रेष्ठ राजनेता की कमी हुई है। सार्वजनिक जीवन मे उनके योगदान व सेवा-समर्पण के लिए सदैव स्मरण किया जाएगा।

गोपाल भार्गव ने कहा...
विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने अपने शोक सन्देश में गौर को प्रखर, ओजस्वी और कद्दावर नेता बताते हुए कहा, गौर के निधन से सार्वजनिक जीवन मे शून्य उत्पन्न हुआ है। लोकतंत्र को मजबूत करने में और प्रदेश की समृद्धि में गौर का योगदान सदैव अविस्मरणीय रहेगा


 

कमेंट करें
40vVk