comScore

अमेरिका में इमरान का विरोध, भाषण के दौरान बलूचिस्तान के समर्थन में लगे नारे


हाईलाइट

  • पाकिस्तान के पीएम इमरान खान तीन दिवसीय यात्रा पर शनिवार को अमेरिका पहुंचे
  • रविवार को एक सभा में बलूच समर्थकों ने किया इमरान का विरोध
  • बलूच समर्थकों ने बलूचिस्तान की आजादी के नारे लगाए

डिजिटल डेस्क, वाशिंगटन। अपने तीन दिवसीय दौरे पर अमेरिका पहुंचे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को बलूचिस्तान समर्थकों का विरोध झेलना पड़ा। रविवार को इमरान खान एक इंडोर स्टेडियम में सभा को संबोधित कर रहे थे। पीएम के भाषण के दौरान ही बलूच समर्थकों का एक समूह उनका विरोध करने लगा। इन कार्यकर्ताओं ने बलूचिस्तान की आजादी के नारे भी लगाए।

दरअसल पाकिस्तान के पीएम इमरान खान तीन दिन की यात्रा पर शनिवार को अमेरिका पहुंचे। रविवार को पीएम इमरान खान अपने देश के प्रवासी लोगों को एक इंडोर स्टेडियम में संबोधित करने पहुंचे। पूरा ऑडिटोरियम लोगों से भरा था। इमरान खान ने अपना संबोधन शुरू ही किया था, तभी बीच में युवकों का एक समूह खड़े होकर उनके खिलाफ नारेबाजी करने लगा। बलूच कार्यकर्ताओं ने बलूचिस्तान की आजादी के नारे लगाए। अपने नारों में इन युवाओं ने कहा, पाकिस्तान में बलूचिस्तानियों के साथ अत्याचार हो रहा है। ब्लूचिस्तान में पाकिस्तानी सुरक्षा बलों की ओर से मानवाधिकार का उल्लंघन भी किया जा रहा है। हालांकि तुरंत ही बलूचिस्तान के समर्थन में नारे लगा रहे इन युवाओं को ऑडिटोरियम से बाहर निकाल दिया गया।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपनी तीन दिवसीय यात्रा पर शनिवार को अमेरिका पहुंचे। पहले दिन भी इमरान खान को वाशिंगटन एयरपोर्ट पर ही बेइज्जती का सामना करना पड़ा था। इमरान का एयरपोर्ट पर स्वागत नहीं हुआ। जिसकी वजह से यहां से इमरान को मेट्रो ट्रेन में बैठकर होटल तक जाना पड़ा था। अमेरिका का कोई मंत्री तो दूर सरकारी अधिकारी भी इमरान खान का स्वागत करने नहीं पहुंचा। हालात ये रहे कि, इमरान को मेट्रो से अपने विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के साथ एयरपोर्ट से होटल तक जाना पड़ा और इस दौरान पाकिस्तानी अधिकारियों के अलावा उनके साथ कोई भी अमेरिकी अधिकारी मौजूद नहीं था। बता दें कि, इमरान से पहले प्रधानमंत्री के रूप में नवाज शरीफ ने 2015 में अमेरिका का दौरा किया किया था।


 

कमेंट करें
sxwqd