comScore

निर्विरोध लोकसभा के स्पीकर चुने गए ओम बिड़ला, पीएम ने दी बधाई


हाईलाइट

  • सर्वसम्मति से 17वीं लोकसभा के स्पीकर चुने गए बीजेपी सांसद ओम बिड़ला 
  • कांग्रेस ने भी लोकसभा के स्पीकर के तौर पर बिड़ला के नाम पर सहमति जताई
  • पीएम मोदी ने बधाई देते हुए कहा, बिड़ला का स्पीकर बनना गर्व की बात है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राजस्थान के कोटा से बीजेपी सांसद ओम बिड़ला लोकसभा के नए स्पीकर बन गए हैं। ओम बिड़ला को निर्विरोध 17वीं लोकसभा के स्पीकर के रूप में चुना गया। बिड़ला ने मंगलवार को ही अपना नामांकन किया था। उनके खिलाफ किसी ने पर्चा नहीं भरा। कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, एनडीए के सभी दल और अन्य विपक्षी दलों ने ओम बिड़ला के नाम का समर्थन किया।

ओम बिड़ला के नाम का प्रस्ताव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रखा, जिसका राजनाथ सिंह, अमित शाह, अरविंद सावंत सहित अन्य कई सांसदों ने ओम बिड़ला के प्रस्ताव का समर्थन किया। चुनाव की प्रक्रिया के बाद ओम बिड़ला ने स्पीकर पद की कुर्सी संभाली। लोकसभा स्पीकर के तौर पर ओम बिड़ला की नियुक्ति पर पीएम मोदी ने उन्हें बधाई देते हुए कहा, ओम बिड़ला का स्पीकर बनना गर्व की बात है। बिड़ला लंबे समय तक राजनीति में सक्रिय रहे हैं। हम सबके लिए गर्व का विषय है कि स्पीकर पद पर आज हम ऐसे व्यक्ति का अनुमोदन कर रहे हैं, जिन्होंने छात्र राजनीति से ही जीवन का सर्वाधिक उत्तम समय, बिना किसी ब्रेक के समाज की किसी न किसी गतिविधि में व्यतीत किया है।

ओम बिड़ला की तारीफ करते हुए पीएम मोदी ने कहा, बिड़ला का व्रत था कि कोटा में कोई भूखा नहीं सोएगा। बिड़ला ने राजनीति का केंद्र बिंदु सेवा बनाया। पीएम ने कहा, राजस्थान का एक छोटा सा शहर लघु भारत बन गया है। कोटा का यह परिवर्तन जिसके योगदान से हुआ है, वह नाम है ओम बिड़ला। आमतौर पर राजनीतिक जीवन में छवि बनी रही रहती है कि हम 24 घंटे राजनीति और तू-तू, मैं-मैं करते हैं। राजनीति जीवन में एक सच्चाई भी होती है, जो अक्सर उजागर नहीं होती। ओम बिड़ला वह शख्सियत हैं, जो जनप्रतिनिधि के नाते राजनीति से जुड़े, लेकिन उनकी कार्यशैली समाजसेवा की रही।

प्रधानमंत्री ने कहा, जब गुजरात में भूकंप आया, तब बहुत लंबे समय तक बिड़ला कच्छ में रहे, अपने इलाके के युवा साथियों को लेकर आए और पीड़ितों की सेवा का काम किया। जब केदारनाथ में हादसा हुआ तब बिड़ला अपनी टोली के साथ उत्तराखंड में समाज सेवा के लिए लगे और कोटा में भी अगर किसी के पास ठंड के सीजन में कंबल नहीं है तो रातभर कोटा की गलियों में निकलकर जन भागीदारी से लोगों को कंबल पहुंचाते हैं।

वहीं लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने नवनिर्वाचित लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला के लिए कहा, कोटा एक कोचिंग इंस्टिट्यूट जैसा है। कोटा की कचौड़ी भी बहुत मशहूर है। यह हाउस खिचड़ी न बने, इसलिए कचौड़ी की तरह स्वादिष्ट आप हमें हर वक्त उपहार देंगे, यह हमारी आपसे उम्मीद हैं। शायराना अंदाज में आधीर रंजन ने कहा, जब मुल्ला को मस्जिद में राम नजर आए, जब पुजारी को मंदिर में रहमान नजर आए, दुनिया की सूरत बदल जाएगी, जब इंसान को इंसान में इंसान नजर आए।

कमेंट करें
8tFwm