comScore

कश्मीर पर चीन का यू-टर्न: कांग्रेस का सवाल-हांगकांग-तिब्बत पर सरकार चुप क्यों ?

कश्मीर पर चीन का यू-टर्न: कांग्रेस का सवाल-हांगकांग-तिब्बत पर सरकार चुप क्यों ?

हाईलाइट

  • जम्मू-कश्मीर पर चीन के बयान से कांग्रेस की नाराजगी
  • मनीष तिवारी ने ट्वीट कर केंद्र सरकार से पूछे सवाल
  • कहा- चीन से करें हांगकांग-तिब्बत पर बातचीत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने भारत दौरे से पहले एक बड़ा बयान दिया। जिनपिंग ने कहा कि हम कश्मीर की स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। दोनों देशों को बातचीत से मामला सुलझा लेना चाहिए। जिनपिंग ने कहा है कि चीन पाकिस्तान के साथ खड़ा रहेगा और उसके हितों की रक्षा करेगा। उनके बयान के बाद भारत में सियासत गर्मा गई है। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने इस मसले पर केंद्र सरकार से सवाल किए हैं। उन्होंने कहा है कि भारत सरकार चीन से तिब्बत,हांगकांग के मुद्दे पर बात क्यों नहीं करता है ?

मनीष तिवारी ने गुरुवार को ट्वीट किया। उन्होंने लिखा कि, अगर शी जिनपिंग कह रहे हैं, उनकी नजर कश्मीर पर हैं, तो पीएम या विदेश मंत्रालय क्यों नहीं कहता कि भारत हांगकांग में हो रहे लोकतंत्र के प्रदर्शन को देख रहा है। वहीं शिंजियांग में हो रहे मानवाधिकार के उल्लंघन, तिब्बत की स्थिति और साउथ चाइना पर चीन की दखल पर भारत नजर बनाए हुए है। 

भारत दौरे पर चीन राष्ट्रपति
चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग 11 और 12 अक्टूबर को भारत दौरे पर आ रहे हैं। ये उनका अनौपचारिक दौरा है। शी जिनपिंग चेन्नई में पीएम मोदी से मुलाकात करेंगे। दोनों नेताओं के बीच ये दूसरी अनौपचारिक मुलाकात है। मोदी और जिनपिंग की मुलाकात कई मायनों में ऐतिहासिक होगी, क्योंकि ऐसी बातचीत रिकॉर्ड में दर्ज नहीं की जाती। ऐसे में दोनों नेताओं के बीच कई मसलों पर खुलकर बातें हो सकती है। बता दें पिछले पांच वर्ष में जिनपिंग और नरेंद्र मोदी के बीच 10 से अधिक बार मुलाकात हो चुकी है। इस साल की यह तीसरी मुलाकात है। 

कमेंट करें
PInBR